DA Image
21 अक्तूबर, 2020|1:57|IST

अगली स्टोरी

बिना सरकारी स्वीकृति शुरू कर दिया कोविड-19 हॉस्पिटल

default image

बेहतर सुविधा और इलाज के लिए धनबाद कोविड-19 हॉस्पिटल से जामाडोबा हॉस्पिटल ले जाए गए सभी 13 कोरोना संक्रमित वापस लौटा लिए गए। डीसी अमित कुमार के आदेश के बाद सभी संक्रमितों को दोबारा धनबाद कोविड-19 हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। टाटा प्रबंधन ने इन सभी को जामाडोबा हॉस्पिटल में बनाए गए 15 बेड के कोविड-19 हॉस्पिटल में भर्ती कराया था। स्वास्थ्य अधिकारियों के अनुसार जामाडोबा हॉस्पिटल में बनाए गए कोविड-19 हॉस्पिटल को सरकार द्वारा स्वीकृति नहीं मिली है। इसी आधार पर सभी मरीजों को वापस मंगवा कर धनबाद कोविड-19 हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। यहां सभी का इलाज चल रहा है।

बता दें कि कोविड-19 हॉस्पिटल में सुविधाओं की कमी बताते हुए टाटा जामाडोबा से आए 20 लोगों ने यहां इलाज कराने से मना करते हुए हंगामा किया था। लोगों ने टाटा के अपने अधिकारियों से भी मामले की शिकायत की थी और टीएमएच जमशेदपुर भेजने की मांग की थी। इस शिकायत के बाद कोरोना संक्रमित सात टाटा अधिकारियों को टीएमएच जमशेदपुर भेज दिया गया था। शेष 13 लोगों को सोमवार की रात टाटा प्रबंधन अपने जामाडोबा स्थित हॉस्पिटल ले गया था। वहां 15 बेड का कोविड-19 हॉस्पिटल बनाया गया था। स्वास्थ्य अधिकारियों के अनुसार जामाडोबा में बने इस कोविड-19 हॉस्पिटल को सरकार से स्वीकृति नहीं मिली है। बिना सरकार की स्वीकृति के कोविड-19 हॉस्पिटल नहीं चलाया जा सकता। इसी आधार पर वहां भेजे गए सभी मरीजों को वापस बुला लिया गया है। इन सभी का इलाज धनबाद कोविड-19 हॉस्पिटल नहीं चलेगा।

साफ-सफाई समेत अन्य सुविधाओं में सुधार

कोविड-19 हॉस्पिटल में मरीजों द्वारा किए गए हंगामे और सिविल सर्जन के निरीक्षण के बाद स्थिति में थोड़ा सुधार हुआ है। वहां इलाज करा रहे मरीजों का कहना है कि वार्ड में अब नियमित सफाई की जा रही है। खाने की क्वालिटी में भी थोड़ा सुधार है। यहां आनेवाले मरीजों को बेडशीट दी जाने लगी है।

टाटा की ओर से जामाडोबा में खोला गया कोविड अस्पताल नोटिफाइड नहीं है। इसलिए वहां संक्रमित मरीज को नहीं रखा जा सकता।

अमित कुमार,डीसी,धनबाद

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Kovid-19 Hospital started without government approval