ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ झारखंड धनबादराजगंज में जूस फैक्ट्री के मालिक की गोली मार कर हत्या

राजगंज में जूस फैक्ट्री के मालिक की गोली मार कर हत्या

जूस की फैक्ट्री चलाने वाले राजगंज खरनी निवासी ज्योति रंजन (35 वर्ष) को गुरुवार की रात अज्ञात हमलावरों ने गोली मार दी। सिर और गर्दन में गोली मार कर...

राजगंज में जूस फैक्ट्री के मालिक की गोली मार कर हत्या
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,धनबादFri, 30 Sep 2022 02:40 AM
ऐप पर पढ़ें

राजगंज (धनबाद), प्रतिनिधि

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।

जूस की फैक्ट्री चलाने वाले राजगंज खरनी निवासी ज्योति रंजन (35 वर्ष) को गुरुवार की रात अज्ञात हमलावरों ने गोली मार दी। सिर और गर्दन में गोली मार कर तीन अपराधी मौके से फरार हो गए। ज्योति अपनी पत्नी और बेटे के साथ अपनी कार से दुर्गापूजा की खरीदारी के लिए बाजार गए थे। ज्योति घर के पास पहुंचे ही थे कि पहले से घात लगा कर बैठे हमलावरों ने उन्हें गोली मार दी। अपराधियों ने मृतक की पत्नी पर भी फायरिंग की। हालांकि वह बाल-बाल बच गईं।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।

मृतक के पिता ने बताया कि गुरुवार रात करीब रात पौने आठ बजे उनका पुत्र ज्योति अपनी पत्नी दीपा कुमारी व चार साल के पोते किटू के साथ खरीदारी कर बाजार से लौटे थे। खरनी मोड़ स्थित सनसाइन काउंटी कॉर्टेज स्थित घर के बाहर जैसे ही ज्योति रुके हमलावरों ने कार की खिड़की के शीशे से सटा कर उनके सिर में गोली मार दी। जब हमलावरों ने गोली चलाई, उस समय ज्योति की पत्नी दरवाजा खोल रही थीं। वह चिल्लाते हुए हमलावरों की तरफ बढ़ी तो एक अपराधी ने उन पर भी गोली चलाई, हालांकि उसका निशाना चूक गया और दीपा की जान बच गई। दीपा ने ही अपने देवर को फोन कर मामले की जानकारी दी। गोली लगने के बाद पत्नी और भाई सौरभ फौरन ज्योति को लेकर एसएनएमएमसीएच पहुंचे, जहां डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। घटना की जानकारी पाकर राजगंज थाना प्रभारी संतोष कुमार और बरवाअड्डा पुलिस की टीम घटनास्थल पर पहुंचे। इधर ग्रामीण एसपी रिष्मा रमेशन, डीएसपी अमर कुमार पांडेय और सरायढेला थाना प्रभारी वीर कुमार एसएनएमएमसीएच पहुंच कर मामले की जानकारी ली।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।

पिता ने कहा- किसी से नहीं थी दुश्मनी

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।

घटना की जानकारी पाकर एसएनएमएमसीएच पहुंचे मृतक के पिता ने बताया कि उनके पुत्र की किसी से कोई दुश्मनी नहीं थी। हमला किसने किया, इसकी जानकारी उन्हें नहीं है। उनकी बहू नहीं देख पाईं कि हमलावर किस गाड़ी से से आए थे। घटना को अंजाम देकर सभी निकल गए। उनका लीची और आम की प्रोसेसिंग कर जूस बनाने का कारोबार है। इधर घटना के बाद पुलिस ज्योति रंजन के घर पहुंची। घर पर मौजूद उनकी भावज से भी पूछताछ की। वह भी हमले का कोई कारण नहीं बता पाईं।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।

हर दिन खुला रहता था दरवाजा

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।

मृतक के पिता ने बताया कि हर दिन वहां का दरवाजा खुला रहा था, लेकिन अपराधियों ने घटना को अंजाम देने के लिए गेट को पूरी तरह से बंद कर दिया था। जैसे ही गेट बंद पाकर ज्योति रंजन ने वहां कार रोकी और पत्नी को गेट खोलने के लिए भेजा, तभी पहले से घात लगाकर बैठे अपराधियों ने ताबड़तोड़ गोली चला दी। गोली चालन की घटना से कार का शीशा चकनाचूर हो गया।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।

पूजा के माहौल में पसरा मातम

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।

नवरात्र को लेकर चारों ओर लोग उमंग में डूबे हैं। इस बीच ज्योति की हत्या से राजगंज का माहौल बिगड़ गया है। लोग दहशत में हैं। क्षेत्र में खुशी का माहौल मातम में बदल गया है। पुलिस मृतक की पत्नी से पूछताछ कर मामले के तह तक पहुंचने के प्रयास में है। इधर घटना के बाद जीटी रोड पर जांच अभियान चलाया गया। मृतक का परिवार मूल रूप से अरवल बिहार के रहने वाला है। ये लोग पिछले 20 वर्षों से यहां रह रहे हैं। बरवाअड्डा में इनकी फैक्ट्री है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
epaper