ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंड धनबादघायल महिला की इलाज के दौरान मौत

घायल महिला की इलाज के दौरान मौत

कुमारधुबी, प्रतिनिधि। गलफरबाड़ी पुलिस द्वारा जख्मी व बेहोशी की हालत में धनबाद एसएनएमएमसीएच में...

घायल महिला की इलाज के दौरान मौत
हिन्दुस्तान टीम,धनबादTue, 28 May 2024 01:15 AM
ऐप पर पढ़ें

कुमारधुबी, प्रतिनिधि। गलफरबाड़ी पुलिस द्वारा जख्मी व बेहोशी की हालत में धनबाद एसएनएमएमसीएच में भर्ती अज्ञात युवती (25) ने सोमवार के सुबह इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। लोगों की सूचना पर पुलिस ने 22 मई को गलफरबाड़ी रेलवे फाटक के पास से अचेत अवस्था में पड़ी युवती को पुलिस ने बरामद किया था। उसके सिर पर गंभीर चोट लगी थी। अस्पताल में वह पांच दिनों तक जिंदगी व मौत से जूझती रही। हत्या की मंशा से उसके सिर पर किसी ने पत्थर से कई बार वार किया था। युवती को मरा समझ रेलवे फाटक के पास फेंक बदमाश भाग गए थे। पुलिस ने मौके से हत्या में प्रयुक्त खून लगा पत्थर जब्त किया था। लगातार प्रयास के बावजूद पुलिस को युवती के बारे में जानकारी नहीं मिल पाई है। युवती की अब तक पहचान नहीं हो पाई है। घटनास्थल के आसपास गांवों में फोटो लेकर पुलिस पहचान में जुटी हुई है। लेकिन उसे पहचानने कोई सामने नहीं आ रहा है। इधर ग्रामीण एसपी कपिल चौधरी भी मामले की जांच कर चुके हैं। उन्हे भी अबतक कोई सुराग हाथ नहीं लगा है। बताया जाता है कि शव का पोस्टमार्टम सोमवार को नहीं हो सका है। संभवत: मंगलवार को पोस्टमार्टम कराया जाएगा। पुलिस ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही यह खुलासा हो पाएगा कि युवती के साथ दुष्कर्म हुआ था या नहीं और मौत किन कारणों से हुई।

गैंग रेप व हत्या की आशंका

घटना के दिन सुबह से ही गैंगरेप के बाद युवती की हत्या कर रेलवे फाटक के पास फेंक देने की चर्चा जोरों पर थी। पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए उसे एसएनएमएमसीएच धनबाद में भर्ती करा चर्चा पर विराम लगा दिया। पुलिस ने मौके से खून से सना पत्थर व उस पर लगे युवती के सिर के बाल को भी जब्त किया था। युवती के सिर व अन्य हिस्से में जख्म के निशान व घटनास्थल पर मिले सबूत ने साबित कर दिया था कि उसके साथ गलत हुआ है। युवती की वेशभूषा, रंग व कद-काठी से लग रह था कि वह आदिवासी है। आसपास स्थित गलफरबाड़ी मांझी बस्ती व शिवलीबाड़ी मुंडाधौड़ा में पुलिस ने फोटो लेकर उसकी पहचान की कोशिश की। ओपी प्रभारी नितिश कुमार ने इस संबंध में कुछ भी बताने से इनकार किया। कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर ही कुछ बताया जा सकता है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।