DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पार्किंग से वसूली मामले में जवानों को क्लीनचीट

ट्रैफिक सिपाहियों पर रांगाटांड़ में पार्किंग संचालक से रंगदारी मांगने के आरोपों की बुधवार को ट्रैफिक डीएसपी अशोक कुमार तिर्की ने जांच की। डीएसपी ने अपने जांच रिपोर्ट में आरोपी सिपाही मंटू व राजेश्वर को क्लीनचीट देते हुए निर्दोष बताया है। इधर एसएसपी मनोज रतन चोथे ने भी दोनों जवानों से पूछताछ कर मामले की पड़ताल की।

मंगलवार को रांगाटांड़ में नगर निगम के पार्किंग ठेकेदार के लोगों और ट्रैफिक जवानों के बीच जमकर विवाद हो गया था। पार्किंग की बंदोबस्ती लेने वाले सनाउल्लाह कुरैशी और उनके साझेदार प्रेम मिश्रा ने आरोप लगाया था कि कई दिनों से श्रमिक चौक पर तैनात सिपाही मंटू व राजेश्वर प्रति दिन के हिसाब से एक-एक हजार रुपए मांग कर रहे थे। मंगलवार को जब इसका विरोध किया तो ट्रैफिक सिपाही ने पार्किंग कर्मियों को ऑटो से पार्किंग चार्ज लेने से रोक दिया। साथ ही जेल भेजने की धमकी दी। इधर डीएसपी ने अपनी जांच रिपोर्ट में बताया है कि मंगलवार को एक ऑटो चालक की चाभी जवानों ने छीन ली थी, इसी बात को लेकर विवाद हुआ था। पार्किंग संचालक को ऑटो खड़ी रहने पर शुल्क लेने का अधिकार है, जबकि पार्किंग कर्मी थ्रू ऑटो से भी जबरन पैसे वसूलते थे। जब सोमवार को जवानों ने संचालकों से इस संबंध में पूछा था तो उन्हें वर्दी उतरवाने की चेतावनी दी गई थी। इस संबंध में ट्रैफिक थाना में जवानों ने सनहा भी दर्ज कराया था। इसी बात को लेकर मंगलवार को विवाद बढ़ गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:In the case of recovery from the parking lot, the jails were clean chit