DA Image
7 मई, 2021|11:54|IST

अगली स्टोरी

डीआरएम ऑफिस में चिट्ठी-पत्री के प्रवेश पर भी पहरा

default image

धनबाद, मुख्य संवाददाता

कोविड की तीव्रता को देखते हुए रेलवे ने कमर कस ली है। रेलवे परिसर को कोरोना मुक्त रखने के लिए चिट्ठी-पत्री पर भी पहरा लगा दिया गया है। आदेश दिया गया है कि कोई भी डाक या पत्र लेकर कर्मचारी या बाहरी आदमी डीआरएम ऑफिस में न आएं। हर प्रकार के आवेदन और चिट्ठियों को डीआरएम कार्यालय के कैंपस के बाहर स्थित सुविधा केंद्र में रिसिव किया जाएगा। सुविधा केंद्र के कर्मचारी ही जरूरी प्रक्रिया अपना कर पत्रों को संबंधित विभागों तक पहुंचाएंगे।

डीआरएम आशीष बंसल के अनुमोदन पर सीनियर डीपीओ जेपी सिंह ने मंगलवार को कोरोना के दिशा-निर्देश से संबंधित एक पत्र जारी किया। पत्र में अगले आदेश तक डीआरएम कार्यालय में कार्यरत कर्मचारियों के अलावा किसी भी व्यक्ति के ऑफिस में प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। यदि कोई रेल कर्मचारी या अन्य किसी अधिकारी से बातचीत/साक्षात्कार करना चाहते हैं तो उन्हें एप के माध्यम से बातचीत करनी होगी। इसके लिए अधिकारियों के पीए से संपर्क करना होगा। दूसरी जगहों ट्रांसफर होकर डीआरएम कार्यालय में योगदान देने आने वालों को भी पहले सुविधा केंद्र में रिपोर्ट करना होगा। बिना मास्क रेल परिसर में घूमने वालों से पांच सौ रुपए जुर्माना लिया जाएगा। इस संबंध में कार्यालय परिसर में बोर्ड भी लगा दिया गया है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Guard of letter letter also guarded in DRM office