DA Image
हिंदी न्यूज़ › झारखंड › धनबाद › गोविंदपुर: दाखिल-खारिज लंबित रखने पर डीसी ने किया गोविंदपुर सीओ को शोकॉज
धनबाद

गोविंदपुर: दाखिल-खारिज लंबित रखने पर डीसी ने किया गोविंदपुर सीओ को शोकॉज

हिन्दुस्तान टीम,धनबादPublished By: Newswrap
Mon, 11 Oct 2021 11:51 PM
गोविंदपुर: दाखिल-खारिज लंबित रखने पर डीसी ने किया गोविंदपुर सीओ को शोकॉज

गोविंदपुर। दाखिल-खारिज (म्यूटेशन) के मामले को लंबित रखने तथा जनशिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं करने पर डीसी संदीप कुमार ने गोविंदपुर के सीओ रामजी वर्मा को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। काम में लापहवारी के आरोप में कड़ी चेतावनी भी है। एक वर्ष से भी अधिक से जमीन की मापी नहीं करने के आरोप में अंचल अमीन मेघलाल महतो के तबादले का आदेश भी जारी किया है। डीसी सोमवार को गोविंदपुर अंचल कार्यालय के निरीक्षण के लिए पहुंचे थे। राजस्व कर्मचारियों के काम पर भी डीसी ने नाराजगी जताई और कहा कि सभी के कार्यों की जांच हो रही है अगर गड़बड़ी मिली तो कार्रवाई के लिए तैयार रहें।

डीसी को शिकायत की गई कि सीओ जनता से नहीं मिलते हैं। दरवाजे पर दो चौकीदार रखते हैं। दरवाजा हर वक्त बंद रहता है। इस शिकायत पर डीसी ने सीओ को फटकार लगाई। डीसी ने कहा कि गोविंदपुर अंचल कार्यालय का दरवाजा पूरी कार्य अवधि में खुला रहेगा। सीओ दरवाजा बंद करके काम नहीं करेंगे। पूरी पारदर्शिता से जनता का काम करेंगे और अंचल कार्यालय आने वाले लोगों से मिलकर उसकी समस्याओं का समाधान करेंगे। मधुगोड़ा निवासी प्रमिला देवी की जमीन मापी मामले को एक वर्ष से लंबित रखने के लिए डीसी ने अंचल अमीन मेघलाल को कड़ी फटकार लगाते हुए उसे शोकॉज करने का निर्देश दिया।

म्यूटेशन के लंबित मामलों की रिपोर्ट तलब

डीसी ने सीओ से कहा कि गोविंदपुर अंचल कार्यालय में म्यूटेशन के सैकड़ों मामले रद्द किए हैं और सैकड़ों मामले ऑब्जेक्शन में रखे हैं। ऐसा कैसे हो रहा है। इस मामले में एक सप्ताह में रिपोर्ट सौंपने का आदेश भी डीसी ने सीओ को दिया। रिपोर्ट में म्यूटेशन के रिजेक्ट करने तथा ऑब्जेक्शन में रखने के कारणों की भी जानकारी देने को कहा। डीसी ने कहा कि अगर ठोस कारण नहीं मिला तो फिर राजस्व कर्मचारी भी कार्रवाई की जद में आएंगे। डीसी ने कहा कि गैरआबाद जमीन की दाखिल-खारिज नहीं की जानी है। ऐसी जमीन के कागजात को ऑनलाइन भी नहीं करना है।

शिकायतों की दे पावती

डीसी ने सीओ से कहा कि शिकायत लेकर आने वाले फरियादियों के आवेदन लिए जाएं और उन्हें पावती रसीद दी जाए। शिकायत का यथाशीघ्र निष्पादन करें और इसकी सूचना शिकायतकर्ता को भी दें।

मुख्यालय से करें शिकायत

डीसी ने कहा कि यदि अंचल कार्यालय द्वारा म्यूटेशन, ऑनलाइन, जमीन मापी या भूमिहीनों को घर बनाने के लिए जमीन देने व अन्य किसी भी तरह की शिकायत पर सीओ ध्यान नहीं देते तो जनता मंगलवार एवं शुक्रवार को डीसी ऑफिस आकर सीधे संपर्क कर सकती हैं। अधिकारी जनता के काम के लिए बहाल किए गए हैं। जनता का काम सभी को प्राथमिकता के आधार पर करना है। काम लटकाने वालों के खिलाफ जिला प्रशासन कठोर से कठोर कार्रवाई करेगा।

मुखिया ने की शिकायत

प्रखंड मुखिया संघ के अध्यक्ष मोबिन अंसारी ने डीसी से शिकायत की कि हर पंचायत से 2-2 बड़ी योजनाएं ग्रामसभा में पारित कर सूची सौंपी गई है लेकिन उन पर काम नहीं हो रहा है। काम सिर्फ विधायक द्वारा अनुशंसित योजनाओं पर ही किया जा रहा है। मुखिया ने वृद्धों की तरह विधवा की भी पेंशन स्वीकृत करने की अपील की। आवास बनाने के लिए भूमिहीनों को जमीन देने का अनुरोध किया। डीसी ने संघ की मांगों पर कार्रवाई का आश्वासन दिया उन्होंने बीडीओ से प्रधानमंत्री आवास योजना का लक्ष्य पूरा करने तथा पंचायत एवं पंचायत समिति की योजनाओं को यथाशीघ्र पूर्ण करने का निर्देश दिया। निरीक्षण में एसी श्याम नारायण राम, डीसीएलआर सतीश चंद्र, बीडीओ संतोष कुमार, सीओ रामजी वर्मा, सीआई यशवंत कुमार सिन्हा सहित अन्य मौजूद थे।

संबंधित खबरें