Former MP from Dhanbad Commere AK Roy - न हन्यते : धनबाद के पूर्व सांसद कॉमरेड एके राय नहीं रहे DA Image
18 नबम्बर, 2019|10:46|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

न हन्यते : धनबाद के पूर्व सांसद कॉमरेड एके राय नहीं रहे

न हन्यते : धनबाद के पूर्व सांसद कॉमरेड एके राय नहीं रहे

मार्क्सवादी चिंतक, मजदूर नेता सह धनबाद के पूर्व सांसद कॉमरेड एके राय का रविवार की सुबह 11.15 बजे सेंट्रल अस्पताल में निधन हो गया। वह 84 वर्ष के थे। मोहलबनी घाट पर सोमवार को राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा।

एके राय के निधन की खबर मिलते ही बड़ी संख्या में मासस समर्थक सेंट्रल अस्पताल पहुंचे। पुराना बाजार स्थित मासस के केंद्रीय कार्यालय में अंतिम दर्शन के लिए शव रखा गया। इससे पहले घंटेभर के लिए जगजीवन नगर स्थित सीटू कार्यालय में भी शव को अंतिम दर्शन के लिए रखा गया। सोमवार (22 जुलाई) की सुबह आठ बजे मासस केंद्रीय कार्यालय से शवयात्रा नुनूडीह झरिया स्थित लाल मैदान से निकलेगी। शहीद गुरुदास चटर्जी भवन के समक्ष मैदान में शव अंतिम दर्शन के लिए कुछ देर पार्थिव शरीर रखा जाएगा। दोपहर दो बजे मोहलबनी घाट के लिए शवयात्रा निकलेगी।

धनबाद से तीन बार सांसद और सिंदरी से तीन बार विधायक रहे राय दा नौ साल से बीमार चल रहे थे। आठ जुलाई को सांस लेने में परेशानी होने के बाद उन्हें सेंट्रल अस्पताल में भर्ती कराया गया था। लंग्स में संक्रमण के कारण उनकी स्थिति गंभीर बनी हुई थी। दवा का कोई असर नहीं हो रहा था। चार दिन पहले मल्टी ऑर्गन फेल्योर होने के कारण डॉक्टरों ने हाथ खड़े कर दिए थे। राय दा मधुमेह, हार्ट, बीपी, ब्रेन हेमरेज सहित अन्य बीमारियों से भी पीड़ित थे। सेंट्रल अस्पताल में ललिता समेत राय दा के कई सेवादार मौजूद थे, जिन्होंने पिछले नौ साल से उनको संभाला। ललिता पैर पकड़कर देर तक रोती रहीं। अन्य सेवादार में कार्तिक महतो, अमरनाथ महतो, मो. आजाद, बिहारी, मंडल विश्वकर्मा आदि मौजूद थे।

लाल सलाम के नारे के साथ ले गए शव: सेंट्रल अस्पताल से रविवार की शाम चार बजे राय दा के शव को समर्थकों की भारी भीड़ के बीच निकला गया। मासस के लाल झंडे से पटे वाहन में शव रखा गया। कॉमरेड राय को लाल सलाम, जब तक सूरज चांद रहेगा-एके राय का नाम रहेगा...। राय दा हम तुझे नहीं भूलेंगे... जैसे नारों के साथ शव लेकर गए। जगजीवन नगर स्थित सीटू कार्यालय में घंटेभर के लिए शव रखा गया। इसके बाद पुराना बाजार स्थित मासस केंद्रीय कार्यालय ले गए, जहां रातभर अंतिम दर्शन के लिए लिए रखा गया।

बारिश से फिर गहराया बाढ़ का संकट, मुजफ्फरपुर व दरभंगा में खतरा बरकरार

ममता के आरोप पर BJP का पलटवार, कहा-धमकाने वाले CBI अफसरों का नाम बताएं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Former MP from Dhanbad Commere AK Roy