DA Image
29 मार्च, 2020|11:33|IST

अगली स्टोरी

कोहरा छंटा फिर भी रद्द ट्रेनें नहीं लौट रही हैं पटरी पर

default image

उत्तर भारत में कोहरा छंट गया है। खिली धूप के बीच ट्रेनें पटरी पर फर्राटा भरने लगी हैं लेकिन कोहरे के कारण रेलवे ने जिन ट्रेनों को रद्द किया था, वह ट्रेनें अभी भी पटरी पर नहीं उतर सकी हैं। धनबाद होकर चलनेवाली चार ट्रेनों को भी 29 फरवरी तक आंशिक या पूर्णरूप से रद्द किया था। इन ट्रेनों पर रेलवे विचार नहीं कर रहा है।

ट्रेन के पटरी पर नहीं उतरने से धनबाद के यात्रियों को भारी परेशानियों को सामना करना पड़ा रहा है। धनबाद से जम्मूतवी के बीच नियमित चलनेवाली एक मात्र ट्रेन दिसंबर माह से ही पूर्ण रूप से रद्द है। इसी तरह रोजाना चलनेवाली सियालदह-अजमेर एक्सप्रेस भी नहीं चल रही है। इन दोनों के नहीं चलने से इन रूटों की अन्य ट्रेनों पर दबाव बढ़ गया है। लखनऊ या इससे आगे लुधियाना तक जाने के लिए लोग गंगा-सतलज एक्सप्रेस का सहारा ले रहे हैं। इसी तरह सियालदह-अजमेर एक्सप्रेस के रद्द रहने के कारण हावड़ा-जोधपुर एक्सप्रेस में लंबी वेटिंग चल रही है। गोमो होकर चलनेवाली संतरागाछी-आनंद विहार भी 29 फरवरी तक पूरी तरह से रद्द है।

रेलवे ने इन तीनों ट्रेनों के अलावा सप्ताह में एक दिन गंगा सतलज एक्सप्रेस को भी स्थगित रखा है। जबकि कोहरे का कारण बता कर रांची-पटना जनशतब्दी एक्सप्रेस के फेरे में भी एक दिन की कटौती की गई है। वहीं 12177-12178 हावड़ा-मथुरा चंबल एक्सप्रेस मथुरा की जगह 28 फरवरी तक आगरा कैंट तक ही जाएगी। मौसम में आई गरमाहट के बाद रेलवे को अपने पूर्व के फैसले पर पुनर्विचार करना चाहिए।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Fog sorted yet canceled trains are not returning on track