ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंड धनबादगोल्डन, रब्बू व जितेंद्र के खिलाफ एफआईआर

गोल्डन, रब्बू व जितेंद्र के खिलाफ एफआईआर

स्क्रैप कारोबारी जमाल अंसारी के आत्महत्या मामले में दो दिन बाद शनिवार को बरवाअड्डा थाना में आरिफ सैयद उर्फ गोल्डन, रब्बू खान, जितेन्द्र साव उर्फ...

गोल्डन, रब्बू व जितेंद्र के खिलाफ एफआईआर
default image
हिन्दुस्तान टीम,धनबादSun, 16 Jun 2024 02:30 AM
ऐप पर पढ़ें

बरवाअड्डा, प्रतिनिधि
स्क्रैप कारोबारी जमाल अंसारी के आत्महत्या मामले में दो दिन बाद शनिवार को बरवाअड्डा थाना में आरिफ सैयद उर्फ गोल्डन, रब्बू खान, जितेन्द्र साव उर्फ जितू साव के खिलाफ आत्महत्या के लिए प्रेरित करने की प्राथमिकी दर्ज की गई। गुरुवार को जमाल ने फांसी लगाकर अपने घर पर आत्महत्या कर ली थी।

शनिवार को उनकी पत्नी सबीरून निशा ने बरवाअड्डा थाना में आवेदन देकर गोल्डन, रब्बू, जितेन्द्र के खिलाफ जमाल को मानसिक रूप से प्रताड़ित करने व धमकी देने का आरोप लगाया। शिकायत में लिखा है कि उनके पति जमाल अंसारी ने सुसनीलेवा में गोल्डन, रब्बू, जितेन्द्र के साथ सिंडिकेट बनाकर स्क्रैप का काम शुरू किया था। आरोपियों की बेईमानी के कारण पति ने सिंडिकेट से अलग हटकर खुद का काम शुरू कर दिया था।

----

रास्ते में रोक कर दे रहे थे हत्या की धमकी

पत्नी ने पुलिस को बताया कि सिंडिकेट छोड़ने पर आरोपी उनके पति की रेकी कराते थे। रास्ते में रोक कर जान से मारने की धमकी दी जा रही थी। दुकान बंद कराने व पूरे परिवार को बर्बाद करने की भी धमकी दे रहे थे। दो सप्ताह से असामाजिक लोग पति के गोदाम में आकर धमका रहे थे। कहते थे गोल्डन, जीतू व रब्बू के साथ काम करना पड़ेगा, नहीं तो तुम्हें और तुम्हारे परिवार को जान से मार देंगे। कुख्यात प्रिंस खान और गोपी खान ने यह मैसेज देने को कहा है। तीनों के सिर पर गैंगस्टर प्रिंस खान और गोपी खान के हाथ होने के कारण पुलिस से शिकायत नहीं की। दोनों गैंगस्टर उन तीनों का पार्टनर भी हैं।

---

24 घंटे में सिंडिकेट में शामिल नहीं हुए तो मरने को तैयार रहो...

पत्नी ने बताया कि आत्महत्या के दिन पति दोपहर साढ़े तीन बजे घर आए थे। वे काफी डरे हुए थे। उन्होंने मुझे बताया कि धमकी मिली है कि 24 घंटे के अंदर सिंडिकेट में शामिल नहीं होते हैं तो मरने के लिए तैयार रहो। कुछ देरी के बाद घर के नीचे कुछ गिरने की आवाज आई। नीचे आने पर देखा कि दरवाजा अंदर से बंद है और अंदर से पति के छटपटाने की आवाज आ रही थी। दरवाजा खोलने व तोड़ने का प्रयास किया पर दरवाजा न खुला और न टूटा। परिवार के लोग छत से रस्सी के सहारे नीचे उतरे तो देखा कि पति पंखे के हूक के सहारे फंदे में झूल रहे थे। इस बीच मुझे एक सुसाइड नोट मिला।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।