DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वैज्ञानिक खेती की ओर बढ़ रहे कोयला क्षेत्र के किसान

आम धारणा है कि धनबाद जिले में हर व्यक्ति कोयले से जुड़ा है। कोयले की कमाई खाता है। सब कुछ कोयले पर निर्भर है। वास्तव में ऐसी स्थिति नहीं है। कोयले से इतर खेती-किसानी से भी बड़ी संख्या में लोग जुड़े हैं। खुशी की बात है कि धनबाद के किसान अब आधुनिक तरीके से खेती की ओर बढ़ रहे हैं। औषधीय खेती अपना रहे हैं। बलियापुर स्थिति कृषि विज्ञान केंद्र में धनबाद जिले के किसानों ने 2017 में 19 सौ से ज्यादा मिट्टी के नमुने जांच के लिए भेजे। विज्ञान केंद्र के पदाधिकारियों का कहना है कि यह किसानों की प्रगतिशील सोच का संकेत है। कुछ सालों से किसान वैज्ञानिक खेती की तरफ बढ़ रहे हैं। इसका फायदा भी मिल रहा है।

कंपोस्ट खाद के प्रति भी किसानों का रूझान है। केंद्र से कंपोस्ट खाद की किसान खरीद कर रहे हैं। खरीद से ज्यादा कंपोस्ट बनाने की तकनीक सीख रहे हैं। केंद्र के डा. नवीन कुमार एवं रमन श्रीवासतव ने मामले पर विस्तार से जानकारी दी।

मिट्टी जांच क्यों जरूरी

मिट्टी पोषक तत्वों का भंडार है। पौधों को अपना जीवन चक्र पूरा करने के लिए लगभग 16 पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है। मुख्य तत्वों में कार्बन, हाइडोजन, आक्सीजन, नाइट्रोजन, फास्फोरस, पोटाश,कैल्सिशयम एवं मैग्नीशियम।

कई सुक्ष्म तत्व जस्ता, मैग्नीज, ताँबा, लौह, बोरोन, मोलिबडेनम व क्लोरीन आदि भी महत्वपूर्ण हैं। इनकी संतुलित मात्रा से ही बेहतर पैदावार संभव है। सामान्य बात है कि लगातार खेती से मिट्टी में पोषक तत्वों की मात्रा घटती-बढ़ती है। मिट्टी जांच से इसकी जानकारी मिलती है। उसके अनुसार उर्वरक का प्रयोग किया जाता है। बिना जांच उर्वरक का प्रयोग करने से खर्च ज्यादा होता है और फायदा कम मिलता है। मिट्टी के सैंपल लेने में सावधानी बरतनी चाहिए। विषेषज्ञों ने किसानों के लिए कुछ टिप्स भी दिए।

सैंपल लेने में बरतें सावधानी

- इस तरह से सैंपल लें कि पूरी जमीन का प्रतिनिधित्व करे। कई जगहों से सैंपल लें

- बुआई से लगभग एक माह पूर्व सैंपल लें ताकि समय पर रिपोर्ट मिल सके

- फसल लगने के बाद पोषक तत्वों की कमी लगे तो फसल के बीच की जमीन से सैंपल लें।

- रासायनिक उर्वरक,कंपोस्ट,चूना या अन्य चीजें डाली गई हैं तो मिट्टी का सैंपल न लें

- धातु से बने औजारों या बर्तनों को सैंपल लेने में प्रयोग न करें,प्लास्टिक या लकडी के औजार से लें

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Farmers moving towards scientific farming