Doctors who do not contribute to PMCH will be removed - पीएमसीएच में योगदान नहीं देनेवाले डॉक्टर हटाए जाएंगे DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पीएमसीएच में योगदान नहीं देनेवाले डॉक्टर हटाए जाएंगे

पीएमसीएच में ट्यूटर और वरीय रजिडेंट (एसआर) के योगदान नहीं देने के मामले को स्वास्थ्य विभाग ने गंभीरता से लिया है। स्वास्थ्य चिकित्सा शिक्षा एवं परिवार कल्याण विभाग ने नवनियुक्त ट्यूटर और एसआर को योगदान के लिए छह दिन की मोहल्लत दी है। विभाग द्वारा पत्र जारी कर कहा गया है कि अगर 17 जुलाई तक योगदान नहीं देते हैं कि तो उनकी नियुक्ति समाप्त कर दी जाएगी।

पीएमसीएच में डॉक्टरों की किल्लत को देखते हुए सरकार ने बहाली नए ट्यूटर और एसआर की बहाली थी। नवनियुक्त 29 डॉक्टरों में से महज 12 ने ही योगदान दिया। इससे पीएमसीएच में डॉक्टरों की किल्लत बरकरार है। इधर, सूत्रों का कहना है कि कम वेतन का हवाला देते हुए ट्यूटर और एसआर योगदान नहीं दे रहे हैं।

भविष्य में भी बहाली से रखा जाएगा वंचित

विभाग ने पत्र में अपना रुख स्पष्ट करते हुए कहा है कि अगर छह दिन के अंदर नवनियुक्त डॉक्टर योगदान नहीं देते हैं, तो तत्काल उनकी नियुक्ति समाप्त कर दी जाएगी। इस पद से संबंधित आगे भी उनका दावा अमान्य कर दिया जाएगा। साथ ही भविष्य में भी उन्हें ब्लैकलिस्टेड कर ऐसी किसी भी नियुक्ति से उन्हें वंचित रखा जाएगा। नियुक्ति की प्रक्रिया पूरी होने के बाद कुछ डॉक्टरों ने तो योगदान नहीं दिया, कुछ डॉक्टर योगदान देने के बाद भी ड्यूटी पर नहीं आ रहे। इसकी शिकायत अस्पताल प्रबंधन ने विभाग से की थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Doctors who do not contribute to PMCH will be removed