DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिजली संकट से शहरवासियों को नहीं मिला पानी

शहरवासियों को गुरुवार की शाम पानी नहीं मिला। भेलाटांड़ प्लांट में बिजली नहीं रहने से पुनारा बाजार के अलावा किसी भी जलमीनार में पानी नहीं छोड़ा गया। शहर में जलापूर्ति नहीं होने से लोगों को परेशानी झेलनी पड़ी। शहर के साढ़े 3 लाख लोगों को पानी संकट झेलना पड़ा। जरूरत से आधा पानी मिलने से लोग पहले ही पानी की किल्लत झेल रहे है। ऐसे में जलापूर्ति एक समय ही होने पर लोग बेचैन है। शाम में पानी भरने के लिए चापाकलों पर लोगों की भीड़ लग गई। चापाकल खराब रहने वाले क्षेत्र के लोगों को या तो पड़ोसियों से पानी लेकर घरेलू कार्य करने पड़े या फिर बोतलबंद पानी खरीदना पड़ रहा है। ये क्षेत्र रहे प्रभावित शहर के गोल्फ ग्राउंड, पुराना बाजार, मनईटांड़, मटकुरिया, धोवाटांड़, गांधी नगर, भूदा, बरमसिया, धनसार, हीरापुर, चिरागोड़ा, पुलिस लाइन, भूली, पोलिटेक्निक, हील कॉलोनी, पीएमसीएच, स्टील गेट, मेमको जलमीनार से पानी नहीं मिला। गुल रही बिजली बरवाअड्डा क्षेत्र में दोपहर दो बजे गुल हुई बिजली रात 8 बजे आई। छह घंटे बिजली गुल रहने से क्षेत्र के लोगों को परेशानी झेलनी पड़ी। भेलाटांड़ वाटर ट्रीटमेंट प्लांट में बिजली नहीं रहने से शहरवासियों को पानी संकट झेलना पड़ा। पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के कॉल सेंटर ने बताया कि बिजली नहीं रहने से मोटर नहीं चल पाया जिससे जलापूर्ति बाधित हुई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Do not get water from power crisis