DA Image
25 फरवरी, 2021|10:03|IST

अगली स्टोरी

धनबाद-फिरोजपुर गंगा सतलज एक्सप्रेस जल्द पटरी पर लौटेगी

default image

धनबाद से फिरोजपुर के बीच चलनेवाली गंगा सतलज एक्सप्रेस जल्द पटरी पर लौटेगी। कुछ नई स्पेशल ट्रेनों को पटरी पर लाने की जोरशोर से तैयारी चल रही है। पूर्व मध्य रेलवे ने जोन की 10 ट्रेनों की सूची रेलवे बोर्ड को भेजी है। इसमें गंगा सतलज लुधियाना एक्सप्रेस भी शामिल है। मुख्यालय ने धनबाद रेल मंडल के सीनियर डीएमई कैरेज एंड वैगन को आदेश दिया गया है कि वे गंगा सतलज एक्सप्रेस की रेक को तैयार रखें।

कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए 22 मार्च से ही ट्रेनों का परिचालन बंद है। यात्रियों की विवशता को देखते हुए एक जून से 100 जोड़ी ट्रेनों को चलाने की मंजूरी दी गई थी। इससे पूर्व 30 रूटों पर राजधानी एक्सप्रेस की सेवा भी बहाल की गई थी।

12 अगस्त को रेलवे ने देश की सभी ट्रेनों को अनिश्चितकाल के लिए रद्द करने की घोषणा कर दी। इस आदेश के साथ बोर्ड ने कुछ नई स्पेशल ट्रेन चलाने का भी भरोसा दिया था। इसी निमित सभी जोन से बोर्ड ने व्यस्त रूटों की सूची मांगी थी। पूर्व मध्य रेलवे के सीसीएम पीएस अमिताभ प्रभाकर ने सीपीटीएम के जिन 10 ट्रेनों की सूची सौंपी थी, उनमें धनबाद से खुलने वाली गंगा सतलज को भी शामिल किया गया था।

ईसीआर से प्रस्तावित 10 नई स्पेशल ट्रेन

- धनबाद-फिरोजपुर गंगा सतलज एक्सप्रेस

- दानापुर-उधना एक्सप्रेस

- जयनगर-नई दिल्ली एक्सप्रेस

- इस्लामपुर-नई दिल्ली एक्सप्रेस

- पाटलिपुत्र-चंडीगढ़ एक्सप्रेस

- राजेंद्र नगर-जम्मूतवी एक्सप्रेस

- मुजफ्फरपुर-सूरत एक्सप्रेस

- मुजफ्फरपुर-वलसाड एक्सप्रेस

- राजेंद्र नगर-इंदौर एक्सप्रेस

- गया-नई दिल्ली महाबोधी एक्सप्रेस

इसलिए गंगा सतलज एक्सप्रेस का हुआ चयन

गंगा सतलज एक्सप्रेस लखनऊ होते हुए फिरोजपुर जाती है। इसी रूट पर धनबाद होकर कोलकाता से अमृतसर के बीच चल रही दुर्गियाना स्पेशल की बुकिंग काफी उत्साहजनक है। अगले चार महीने तक एक भी दिन ट्रेन की किसी श्रेणी में धनबाद से सीट खाली नहीं है। धनबाद से लखनऊ की तरफ जाने के लिए सिर्फ एक ट्रेन दुर्गियाना का ही विकल्प है। वह भी सप्ताह में सिर्फ दो दिन चलती है। बंगाल सरकार पूर्ण लॉकडाउन लागू कर ट्रेनों को रद्द करा रही है लेकिन गंगा सतलज धनबाद से चलती है। लिहाजा इस पर बंगाल बंदी का कोई असर नहीं पड़ेगा।

पटरी पर लौटते ही बढ़ जाएगी अधिकतम गति

पटरी पर लौटते ही गंगा सतलज एक्सप्रेस की रफ्तार बढ़ जाएगी। रेलवे बोर्ड ने धनबाद से दीनदयाल उपाध्याय स्टेशन के बीच के सेक्शनल स्पीड को बढ़ा कर 110 से 130 किलोमीटर प्रतिघंटा कर दिया है। एलएचबी कोच होने के कारण लुधियाना एक्सप्रेस भी 130 किलोमीटर प्रति घंटे की अधिकतम गति से दौड़ सकेगी। इस ट्रेन के दोबारा पटरी पर लौटने से धनबाद से बिहार के कुछ हिस्सों के साथ-साथ यूपी और पंजाब जाने वाले या वहां से धनबाद लौटने वालों को काफी सहूलियत होगी। कोविड 19 के प्रभाव के बावजूद अब धीरे-धीरे परदेसी व प्रवासी मजदूर काम पर लौटने लगे हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Dhanbad-Firozpur Ganga Sutlej Express will return on track soon