DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

धनसार : कोयला उठाव को लेकर तनाव, दोनों गुट आमने-सामने

कुसुंडा क्षेत्र के धनसार स्थित विश्वकर्मा प्रोजेक्ट में रविवार को ट्रक लोडिंग को लेकर मासस व भाजपा समर्थक आमने-सामने हो गए। तनाव की स्थिति बन गयी थी। दोनों गुट लोडिंग करने के लिए टोकरी लेकर पहुंचे थे। 194 दिन के बाद लोडिंग कार्य शुरू होने वाला था। दंडाधिकारी और पुलिस बल की मौजूद नहीं से कोयले का उठाव नहीं हो सका। दोनों गुटों की ओर से शक्ति प्रदर्शन किया गया। कानून व्यवस्था का आलम यह है कि धनसार प्रोजेक्ट में 194 दिन से कोयले का उठाव बंद है। उद्योग प्रभावित हो रहे हैं। डीओ धारकों का व्यापार ठप है। मजदूर बेरोजगार हैं।

धनसार लोडिंग प्वाइंट के मजदूर युवा बेरोजगार मंच और असंगठित मजदूर मोर्चा के बैनर तले लंबे समय से आमने-सामने होते रहे हैं। दोनों गुटों के पीछे राजनीतिज्ञों का हाथ है।

मासस और जमसं(भाजपा भी) समर्थक दूसरे को लोडिंग देना नहीं चाहते। उनका कहना है कि विश्वकर्मा में उनकी जमीन गई है। दोनों लोडिंग पर हक जता रहे हैं। वैसे मुख्य वजह लोडिंग के पीछे रंगदारी है।

जमसं समर्थक असंगठित मोर्चा के अध्यक्ष रिंकू सिंह ने कहा कि 7 महीने से ट्रक लोडिंग कार्य बंद है, जिससे मजदूर भुखमरी के कगार पर आ गए हैं। मासस नेता धीरेन मुखर्जी, बच्चन भारती का कहना है कि भले ही दूसरे गुट के 20 मजदूरों को काम दिया जा सकता है लेकिन रंगदारी नही लेने देंगे। मौके पर उमेश राम, बंटी सिंह, वोट चौहान, राजेश मराठी, मनोज पासवान, कविंद्र सिंह, गुड्डू भारती आदि मौजूद थे।

वहीं युवा बेरोजगार मंच के गुड्डू सिंह और असंगठित मजदूर के अध्यक्ष शिवशंकर सिंह ने कहा कि समस्या के समाधान के लिए बीसीसीएल की तरफ से कोई ठोस पहल नहीं हुई। कभी भी कोई अनहोनी हो सकती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Dhanasar: Stress on coal uplift, both factions face-to-face