ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ झारखंड धनबादडीसी रेल लाइन को भूमिगत आग से अब भी खतरा: डीजी

डीसी रेल लाइन को भूमिगत आग से अब भी खतरा: डीजी

धनबाद-चंद्रपुरा (डीसी) रेललाइन के ऊपर से भूमिगत आग का खतरा टला नहीं है। अभी भी उक्त रेल लाइन को खतरा है। फिलहाल आग रेल लाइन की तरफ तेजी से बढ़ी नहीं...

डीसी रेल लाइन को भूमिगत आग से अब भी खतरा: डीजी
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,धनबादSun, 08 Jan 2023 01:33 AM
ऐप पर पढ़ें

धनबाद, विशेष संवाददाता

धनबाद-चंद्रपुरा (डीसी) रेललाइन के ऊपर से भूमिगत आग का खतरा टला नहीं है। अभी भी उक्त रेल लाइन को खतरा है। फिलहाल आग रेल लाइन की तरफ तेजी से बढ़ी नहीं है। जब तक जमीन के अंदर कोयला है, आग रहेगी। इसकी सूचना समय-समय पर रेलवे और बीसीसीएल को दी जाती रही है। यह बात खान सुरक्षा महानिदेशक प्रभात कुमार ने कही। शनिवार को डीजीएमएस के 122वें स्थापना दिवस पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान एक सवाल के जवाब में डीजी ने यह बात कही।

संकेत दिया कि सिंफर से भूमिगत आग की जांच कराई जा रही है। खतरा बढ़ने पर रेल लाइन को बंद किया जा सकता है। सारी वस्तुस्थिति की जानकारी रेलवे को है। अब रेल लाइन को चालू रखना या बंद करने पर निर्णय रेलवे को लेना है।

बात करने पर महानिदेशक ने कहा कि सीधी सी बात है कि कोयला है और कोयले में आग लगी है तो जब तक कोयले को निकाल बाहर नहीं किया जाएगा, कोयला जलता रहेगा। यह आग कभी भी खतरानक रूप ले सकती है। कोयला निकालना है तो रेल लाइन को शिफ्ट करना होगा। आग बुझाने का यही एकमात्र विकल्प है।

मालूम हो कि भूमिगत आग के कारण डीसी रेल लाइन को 15 जून 2017 को बंद कर दिया गया था। भूमिगत आग के कारण सरकार ने यह निर्णय लिया था, जिससे एक ही झटके में 26 जोड़ी ट्रेनों का परिचालन बंद हो गया था। आंदोलन के बाद 2019 को धनबाद-चंद्रपुरा रेल लाइन को फिर से चालू कर दिया गया। हालांकि रेल लाइन चालू होने के बाद फायर फाइटिंग को लेकर कोई पहल नहीं की गई।

रेल लाइन के आसपास खनन की नहीं दी जा रही मंजूरी

डीसी लाइन के आसपास खनन की मंजूरी खान सुरक्षा महानिदेशालय की ओर से नहीं दी जा रही है। सवाल पर खान सुरक्षा महानिदेशक ने कहा कि रेल लाइन से तय दूरी पर खनन नहीं किया जा सकता। डीसी रेल लाइन को लेकर निदेशालय विशेष एहतियात बरत रहा है। कोयला खनन की मंजूरी नहीं दी जा रही है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।