DA Image
24 जनवरी, 2021|2:07|IST

अगली स्टोरी

संकट : कुसुम विहार, गोविंदपुर क्षेत्र में 12 घंटे बिजली गुल

default image

विभाग पहले गर्मी में लोड बढ़ने और मेंटनेंस की बात कहकर बिजली काटता रहा, अब बरसात में भी बुरा हाल है। कहीं डिश पंक्चर से तार टूट रहा तो कहीं  मौसम खराब होने से पेड़ तार पर गिर रहे हैं। इस कारण लोगों को संकट का सामना करना पड़ रहा।

सोमवार को कुसुम विहार, आमाघाटा, कोलाकुसमा गोविंदपुर, महाराजगंज रोड और छोटा अंबोना क्षेत्र में 12 घंटे तक बिजली नहीं रही। इस कारण लोगों को विभिन्न प्रकार की परेशानियों का सामना करना पड़ा। इतनी देर तक लगातार बिजली नहीं रहने से घर में लगे इंवर्टर की बैटरी डिस्चार्ज कर गयी।

विभाग का कहना है कि आमाघाटा पावर सब स्टेशन में लगे पैनल में डीसी चार्जर में रविवार की रात 1.30 बजे खराबी आ गई। इससे क्षेत्र में बिजली संकट उत्पन्न हो गया। थोड़ी देर में विभाग ने इसकी रिपेयरिंग कर बिजली आपूर्ति की। लेकिन सुबह 7.00 बजे पैनल में लगा डीसी चार्जर ब्लास्ट कर गया, जिससे 12 घंटे तक बिजली गुल रही।

आमाघाटा पावर सबस्टेशन के पैनल का डीसी चार्जर खराब हो गया था, जिसे बदलकर नया लगाया गया। इस कारण क्षेत्र में बिजली संकट रहा।

- मृणाल गौतम कार्यपालक अभियंता गोविंदपुर डिवीजन

हीरापुर क्षेत्र में पांच घंटे बत्ती गुल

माडा कॉलोनी, झरनापाड़ा, प्रोफेसर कॉलोनी, हीरापुर के सहित आसपास क्षेत्र में पांच घंटे तक बिजली नहीं रही। बिजली कटौती के कारण लोगों को आधी नींद में उठना पड़ा। सुबह चार बजे गुल हुई बिजली 9 बजे के बाद लौटी। जूनियर इंजीनियर प्रदीप दास का कहना है कि बरमसिया फीडर का डिश पंक्चर होने से 11 हज़ार वोल्ट का तार टूट गया था, जिसे रिपेयरिंग करने में पांच घंटे लगे। बताया कि मौसम खराब होने से 33 हजार वोल्ट की लाइन बंद थी। इस कारण लोगों को बिजली संकट का सामना करना पड़ा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Crisis 12-hour power failure in Kusum Vihar Govindpur area