DA Image
19 अक्तूबर, 2020|3:26|IST

अगली स्टोरी

धनबाद में अपराधियों के बढ़े हौंसले, हांफ रही पुलिस

default image

चोरी, लूट और डकैती के बढ़ते मामलों से जूझ रही धनबाद पुलिस को हर दिन गुंडे-बदमाश नई चुनौती दे रहे हैं। जिले में अपराधियों के हौंसले काफी बढ़ गए हैं। कोयला क्षेत्र में हर दिन वर्चस्व को लेकर अपराधी गोली-बम चला रहे हैं। राजनीतिज्ञ बेरोजगार युवाओं को आगे कर अपना उल्लू सीधा कर रहे हैं। मजूदरों की हितों की आड़ में सभी आउटसोर्सिंग कंपनी से मिल कर अपना हिस्सा तय करने में जुटे हैं।

कतरास और बाघमारा में हर दिन वर्चस्व की लड़ाई हो रही है। गुंडे खुलेआम फायरिंग कर अपने आका का सिक्का जमाने में जुटे हैं। राजनेताओं के लोग एक-दूसरे को मांद में धकेलने को आतुर हैं और पुलिस एफआईआर-एफआईआर खेल रही है। कोयले के धंधे में वर्चस्व के लिए धनबाद में गोलियां चलते रही हैं लेकिन कोरोना काल में घटनाओं में अप्रत्याशित वृद्धि हो गई है। पुलिस का नेटवर्क पूरी तरह से फेल हो गया है। अपराधी गोली चला कर आराम से भाग जाते हैं और पुलिस केस दर्ज कर चुप बैठ जाती है। युवाओं के पीठ पर बंदूक रख कर चलाने वालों पर न तो प्राथमिकी दर्ज होती है और न ही पुलिस उन पर हाथ डालती है।

रंगदारी के 50, चोरी के 180 व डकैती के 18 मामले

धनबाद जिले के विभिन्न थानों में अभी तक 50 से अधिक रंदगारी के मामले दर्ज हो चुके हैं। पिछले पांच सालों में इतनी रंगदारी की घटनाएं कभी दर्ज नहीं की गईं। वर्ष 2019 में सिर्फ 30 रंगदारी के मामले रिपोर्ट हुए थे। इसी तरह अभी तक जिले में 190 घरों को चोर निशाना बना चुके हैं। जबकि अभी इस वर्ष में दो माह बाकी हैं। इसी तरह 30 से अधिक लूट के मामले प्राथमिकी में तब्दील हो चुके हैं। जबकि करीब 18 डकैती के मामले थानों तक पहुंच चुके हैं। चोरी, डकैती और लूट के 80 प्रतिशत से अधिक मामलों में पुलिस आरोपी को चिह्नित तक नहीं कर पा रही है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Criminals increased in Dhanbad police are gasping