DA Image
21 सितम्बर, 2020|12:45|IST

अगली स्टोरी

बीसीसीएल के खिलाफ कोर्ट जाने की तैयारी में निगम

default image

प्रॉपर्टी टैक्स को लेकर नगर निगम और बीसीसीएल में फिर से टकराव की स्थिति बनती जा रही है। नगर निगम ने दस दिन पहले बीसीसीएल को पत्र लिखकर अपने प्रॉपर्टी टैक्स का आकलन करते हुए सेल्फ एसेसमेंट फॉर्म देने को कहा था। लेकिन बीसीसीएल ने इसमें दिलचस्पी नहीं दिखाई। अब निगम बीसीसीएल के खिलाफ कोर्ट की अवमानना का केस दर्ज करने की तैयारी कर रहा है।

बीसीसीएल और नगर निगम के बीच प्रॉपर्टी टैक्स को लेकर पिछले तीन साल से विवाद चल रहा है। मामला कोर्ट तक पहुंच चुका है। कोर्ट ने ऑर्बिटेटर नियुक्त करते हुए मामले को बैठकर सुलझाने का निर्देश दिया था। नगर आयुक्त सत्येंद्र कुमार ने बताया कि बीसीसीएल को एक रिमाइंडर लेटर दिया जाएगा। उसके बाद भी बीसीसीएल ने एसएफए फॉर्म नहीं भरकर दिया तो निगम कोर्ट जाएगा।

256 करोड़ का निगम ने ठोंका था दावा

2017 में नगर निगम ने बीसीसीएल पर प्रॉपर्टी टैक्स के रूप में 256 करोड़ का दावा करते हुए बीसीसीएल का एकाउंट फ्रीज कर दिया था। इस निर्णय के खिलाफ बीसीसीएल कोर्ट चली गई थी, लेकिन इस विवाद को खत्म करने के लिए ही नगर आयुक्त सत्येंद्र कुमार ने पहल करते हुए बीसीसीएल को खुद से अपनी परिसंपत्तियों का आकलन करने को कहा है।

क्या है सेल्फ एसेसमेंट फार्म

सेल्फ एसेसमेंट फॉर्म (एसएफए) के तहत बीसीसीएल को अपनी परिसंपत्ति का खुद आकलन कर नगर निगम को जानकारी देनी है। इसी आधार पर नगर निगम प्रॉपर्टी टैक्स का आकलन करेगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Corporation preparing to go to court against BCCL