DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कोल इंडिया : दो साल की पीआरपी के लिए 300 करोड़ मिलेंगे

कोयला अधिकारियों के दो साल के पीआरपी को कोल इंडिया बोर्ड से हरी झंडी मिल गई है। 29 मई को बोर्ड की बैठक में स्वीकृति दी गई। वहीं लीव इनकैशमेंट(अर्जित अवकाश पर भुगतान) की पूर्व व्यवस्था 600 दिन के भुगतान में कटौती कर 300 दिन का अधिकतम भुगतान संबंधी प्रस्ताव पर बोर्ड ने सहमति  प्रकट की है। यानी बोर्ड के इन दो निर्णयों से कोयला अधिकारियों में खुशी और गम की स्थिति है।
बोर्ड ने 2014-15 एवं 2015-16 के पीआरपी को स्वीकृति दी है। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि प्रक्रिया पूरी करने के बाद भुगतान हो जाएगा। डेढ़ माह के अंदर भुगतान होने की संभावना है। दो साल के पीआरपी के लिए करीब 300 करोड़ रुपये मिलेंगे। रेटिंग के अनुसार भुगतान होता है। कम रेटिंग वालों को कम मिलता है।  
इधर सीएमओएआई ने लीव इनकैशमेंट में कटौती पर नारजगी प्रकट की है। बीसीसीएल शाखा के महासचिव भवानी बंदोपाध्याय ने कहा कि अर्जित अवकाश एवं एचपीएल के तहत सेवानिवृत्ति पर अधिकतम 600 दिन का भुगतान होता था। अब तीन सौ दिन से ज्यादा का नहीं होगा। यह सही निर्णय नहीं है। कोल इंडिया प्रबंधन को इसपर पुनर्विचार करना चाहिए। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Coal India: 300 crore for two-year PRP