CMS guard shot dead in Jodfatak CMS guard shot dead in Jodfatak - जोड़ाफाटक में सीएमएस गार्ड की गोली लगने से मौत DA Image
15 दिसंबर, 2019|2:53|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जोड़ाफाटक में सीएमएस गार्ड की गोली लगने से मौत

जोड़ाफाटक में सीएमएस गार्ड की गोली लगने से मौत

1 / 3जोड़ाफाटक में सीएमएस के गनमैन मुरलीधर तिवारी (52) की गोली लगने से संदेहास्पद परिस्थिति में मौत हो गई। घटना बुधवार शाम की...

जोड़ाफाटक में सीएमएस गार्ड की गोली लगने से मौत

2 / 3जोड़ाफाटक में सीएमएस के गनमैन मुरलीधर तिवारी (52) की गोली लगने से संदेहास्पद परिस्थिति में मौत हो गई। घटना बुधवार शाम की...

जोड़ाफाटक में सीएमएस गार्ड की गोली लगने से मौत

3 / 3जोड़ाफाटक में सीएमएस के गनमैन मुरलीधर तिवारी (52) की गोली लगने से संदेहास्पद परिस्थिति में मौत हो गई। घटना बुधवार शाम की...

PreviousNext

जोड़ाफाटक में सीएमएस के गनमैन मुरलीधर तिवारी (52) की गोली लगने से संदेहास्पद परिस्थिति में मौत हो गई। घटना बुधवार शाम की है। गांधी रोड महावीर स्थान निवासी मुरलीधर तिवारी के परिजनों का रो- रो कर बुरा हाल है। घटना की सूचना पाकर पहुंची धनसार पुलिस ने शव को जब्त कर लिया। मौके से मृत गार्ड की राइफल भी पुलिस ने जब्त कर ली है। शव को पोस्टमार्टम के लिए पीएमसीएच भेज दिया गया है। पुलिस मामले की पड़ताल में जुटी है। परिजनों के साथ-साथ सहकर्मियों से भी पूछताछ की जा रही है। सीसीटीवी फुटेज की भी पड़ताल हो रही है।

बुधवार की दोपहर 3.55 बजे अचानक जोड़ाफाटक का चंद्रा मार्केट स्थित सीएमएस इंफो सिस्टम लिमिटेड कंपनी कार्यालय से गोली चलने की आवाज आई। आसपास के लोग व सहकर्मी दौड़कर गार्ड रूम पहुंचे तो देखा कि गनमैन मुरलीधर एक ओर लुढ़का हुआ है और उसकी छाती से खून निकल रहा है। पास ही उसकी राइफल भी रखी है। घटना की सूचना पाकर सीएमएस के कई अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए। बाद में जानकारी मिलते ही मुरलीधर की पत्नी मीनू तिवारी, पुत्र रजनीश तिवारी, पुत्री काजल व छोटी पुत्री रितु मौके पर पहुंचे। शव को देखते ही दहाड़ मार कर रो पड़े। परिजनों ने बताया कि पेमेंट को लेकर कंपनी में विवाद होता था। इसलिए वह तनाव में रहते थे। उन्हें गोली कैसे लगी, इसकी पुलिस गहनता से जांच करे। मुरलीधर ही पूरे परिवार का एकमात्र कमानेवाले सदस्य थे। वह 10 वर्षों से कंपनी में गनमैन के रूप में काम कर रहे थे।

कैश वैन लेकर आए और गार्ड रूम में चले गए मुरलीधर

सहकर्मियों ने बताया कि बुधवार को गनमैन मुरलीधर तिवारी, कस्टोडियन रंजीत कुमार व चालक सुबोध कुमार दास कई प्रतिष्ठानों से रकम लेकर बैंकों में जमा कराया। इसके बाद कस्टोडियन रंजीत बैंक में ही रह गया। मुरलीधर अपने चालक सुबोध दास के साथ कैशवैन लेकर शाम के पौने चार बजे जोड़ाफाटक स्थित सीएमएस कार्यालय पहुंचे। वहां मुरलीधर अपने कार्यालय के गार्ड रूम में चले गए। तभी अचानक 3.55 बजे गोली चलने की आवाज अंदर से आई। गोली की आवाज के बाद कार्यालय में अफरातफरी मच गई। कंपनी के कर्मचारियों ने गार्ड रूम में देखा कि मुरलीधर को गोली लगी है और वह वहां पर खून से लथपथ पड़ा है। कर्मियों ने बताया कि उनकी कंपनी बैंक से पैसा लेकर सुरक्षित उनकी एटीएम में जमा करने व कई प्रतिष्ठानों से पैसा लेकर उनके बैंक में जमा कराने का कार्य करती है। चार माह पूर्व ही कंपनी का दफ्तर यहां शिफ्ट हुआ है। इससे पहले धोवाटांड़ कार्यालय था।

पुलिस ने लिए गार्ड के हाथ व पैर के सैंपल

घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस कहीं फोरेंसिक टीम ने गार्ड के हाथ और पैर के सैंपल लिए हैं। क्योंकि आशंका है कि राइफल का ट्रिगर पैर से दब गया हो, क्योंकि गोली छाती पर लगी है। छाती पर राइफल की नोंक सटाने के बाद हाथ से ट्रिगर दबाना संभव नहीं है। ऐसे में संभव है कि ट्रिगर पैर से दबाई गई हो। इसलिए पुलिस ने गार्ड के दोनों मोजे को भी जब्त कर लिया है। फोरेंसिक टीम ने गोली लगे स्थान का सैंपल भी लिया है। पुलिस ने मौके से 12 बोर के राइफल व गोलियों को भी जब्त किया है।

गोली किस राइफल से चली है। गार्ड ने आत्महत्या की है, या फिर यह हादसा है। इन सभी बिंदुओं पर गहनता से पड़ताल की जा रही है। कर्मचारियों से भी पूछताछ हुई है। सीसीटीवी फुटेज भी खंगाला जा रहा है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी काफी हद तक खुलासा हो जाएगा।

- भिखारी राम, इंस्पेक्टर, धनसार

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:CMS guard shot dead in Jodfatak CMS guard shot dead in Jodfatak