ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News झारखंड धनबादझिलमिल रोशनी से सजा शहर और आतिशबाजी से आसमान

झिलमिल रोशनी से सजा शहर और आतिशबाजी से आसमान

दीपावली पर झिलमिल रोशनी से पूरा शहर जगमग हो उठा। चकाचौंध रोशनी से पूरा शहर सजा था तो आतिशबाजी से आसमान। सुख शांति और समृद्धि के लिए दीपावली पर...

झिलमिल रोशनी से सजा शहर और आतिशबाजी से आसमान
हिन्दुस्तान टीम,धनबादTue, 14 Nov 2023 03:15 AM
ऐप पर पढ़ें

धनबाद, कार्यालय संवाददाता
दीपावली पर झिलमिल रोशनी से पूरा शहर जगमग हो उठा। चकाचौंध रोशनी से पूरा शहर सजा था तो आतिशबाजी से आसमान। सुख शांति और समृद्धि के लिए दीपावली पर रविवार को लोगों ने माता लक्ष्मी और भगवान गणेश की पूजा अर्चना की। घर में रिद्धि-सिद्धि का वास हो, इसके लिए आम के पत्तों का तोरण द्वार पर लगाया गया। मुख्य द्वार पर केले के थंब लगाए गए। पुष्प और दीपों से घर मंदिर को सजाया गया। सुख, समृद्धि और बुद्धि के लिए महालक्ष्मी और अग्रदेव भगवान गणेश की आराधना की गई।

सुंदर रंगोली से सजे घर-आंगन

दीपावली पर महिलाओं और युवतियों ने घर आंगन में एक से बढ़कर सुंदर व आकर्षक रंगोली बनाई। मान्यता है कि प्रभु श्रीराम इसी दिन 14 वर्ष के वनवास काटने के बाद अयोध्या नगरी लौटे थे। परंपरा अनुसार दीप जलाकर और रंगोली बनाकर कामना की गई कि प्रभु श्रीराम के चरण कमल उनके घर आंगन में भी पड़े। इसके साथ-साथ अपने घरों को दीपों से सजाने के बाद लोग आसपास के मंदिर पहुंचे और दीपोत्सव मनाया। मंदिर में अपने इष्ट देव के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित कर मनोकामना पूर्ण करने की कामना की गई।

शुरू हुआ नया बही-खाता

दीपावली पर लोगों ने अपने-अपने प्रतिष्ठानों में भी पूजा की। प्रतिष्ठान में लेखा-जोखा रखने वाले नया बही खाता रखा गया। बही-खाता की भी पूजा की गई। प्रतिष्ठानों में गणेश लक्ष्मी की प्रतिमा के साथ-साथ कलश स्थापित की गई।

गोवर्धन पूजा आज और चित्रगुप्त पूजा कल होगी

पंचांग के अनुसार मंगलवार को उदया तिथि में गोवर्धन पूजा भी मनाई जाएगी। गोर्वधन पूजा कार्तिक मास शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि को मनाई जाती है। पूजा का शुभ मुहूर्त सुबह 6.43 से 8.52 तक है। सोमवार को अमावस्या रहने के कारण दीपावली के दूसरे दिन मंगलवार को गोवर्धन पूजा मनाई जा रही है। वहीं 15 नवंबर बुधवार को जिलेभर में चित्रगुप्त पूजा मनाई जाएगी। कई स्थान पर भगवान चित्रगुप्त की प्रतिमा स्थापित कर आराध्य की पूजा अर्चना होगी। मंगलवार को दोपहर 2.36 बजे से द्वितिया तिथि की शुरुआत हो रही है। भाई दूज इसी दिन मनाई जाएगी।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें