Child line will not go to PMCH to pick up the girl - बच्ची को लेने पीएमसीएच नहीं जाएगी चाइल्ड लाइन DA Image
14 दिसंबर, 2019|5:32|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बच्ची को लेने पीएमसीएच नहीं जाएगी चाइल्ड लाइन

default image

बच्ची को पीएमसीएच से लाने के लिए अब चाइल्ड लाइन की टीम नहीं जाएगी। पीएमसीएच में इलाजरत बच्ची को लेकर मंगलवार को अधीक्षक और चाइल्ड लाइन के सदस्यों के बीच कहासुनी हो गई थी। मामले में सीडब्ल्यूसी को संज्ञान लेना पड़ा। पीएमसीएच प्रबंधन ने यह कहकर चाइल्ड लाइन को बच्ची देने से इनकार कर दिया था कि वह किसी अनजान व्यक्ति को बच्ची नहीं सौंप सकते। पुलिस साथ लाने को कहा गया जबकि चाइल्ड लाइन की टीम अपना परिचय देती रही।

निर्णय लिया गया अब चाइल्ड लाइन बच्ची को लेने पीएमसीएच जाएगी ही नहीं। सीडब्ल्यूसी ने सरायढेला पुलिस को बच्ची को प्रस्तुत करने को कहा है। दरअसल बरमसिया की रहनेवाली नौ वर्षीय बच्ची पिछले 15 दिनों से प्रतिदिन अपनी बिछड़ी मां को ढूंढ़ने पीएमसीएच आती थी। क्योंकि उसकी मां पीएमसीएच से ही लापता हो गई थी। इससे पूर्व मां पीएमसीएच में ही इलाजरत थी। वह मानसिक रूप से बीमार है। पीएमसीएच से उसे रिम्स रेफर किया गया था, लेकिन रास्ते से ही वह लापता हो गई थी। रविवार को कुछ सामाजिक लोग बरमसिया फाटक के पास से अज्ञात समझकर उसे पीएमसीएच लेकर आए। जहां बच्ची अपनी बिछड़ी मां से मिल गई। वहीं पर उसने लोगों को बताया कि मामा-मामी की प्रताड़ना से तंग आकर वह घर से भाग गई थी। बताया कि उसकी मां गुम नहीं हुई थी, बल्कि रांची रिम्स ले जाने के दौरान उसके मामा ने मां को रेलवे स्टेशन पर छोड़ दिया था। लोगों ने महिला को पीएमसीएच में भर्ती कराया, जबकि असहाय बच्ची को देखकर सीडब्ल्यूसी और चाइल्ड लाइन को इसकी सूचना दी थी।

बच्ची की सुरक्षा के लिए पुलिस और होमगार्ड में फेंकाफेंकी

पीएमसीएच में इलाजरत बच्ची की सुरक्षा के लिए पुलिस और होमगार्ड के जवानों में भी फेंकाफेंकी होती रही। दरअसल सीडब्ल्यूसी से निर्देश मिलने के बाद बच्ची की सुरक्षा के लिए सरायढेला की पुलिस पहुंची। पीएमसीएच में पहुंचे एएसआई ने वहां तैनात होमगार्ड के जवानों के नाम पत्र बनाकर बच्ची की सुरक्षा के लिए कहा, लेकिन होमगार्ड के जवानों ने इसे रिसीव करने से इनकार कर दिया। कहा कि उनकी ड्यूटी बदलती रही है। यह काम पुलिस अपने विभाग के जवानों से कराए। पुलिस ने होमगार्ड जवान पिटू सिंह और जीतेंद्र सिंह की शिकायत कंपनी कमांडर से की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Child line will not go to PMCH to pick up the girl