ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News झारखंड धनबादसिंदूर लगे भारी-भरकम माउजर से अमन को मारी गई थी गोली

सिंदूर लगे भारी-भरकम माउजर से अमन को मारी गई थी गोली

अमन सिंह हत्याकांड में छापेमारी के दौरान जेल से बरामद हथियार तथा अन्य साक्ष्यों को सरायढेला थाना प्रभारी सह केस के आईओ विनय कुमार ने मंगलवार को...

सिंदूर लगे भारी-भरकम माउजर से अमन को मारी गई थी गोली
हिन्दुस्तान टीम,धनबादWed, 06 Dec 2023 02:30 AM
ऐप पर पढ़ें

धनबाद, प्रतिनिधि
अमन सिंह हत्याकांड में छापेमारी के दौरान जेल से बरामद हथियार तथा अन्य साक्ष्यों को सरायढेला थाना प्रभारी सह केस के आईओ विनय कुमार ने मंगलवार को कोर्ट के समक्ष पेश किया। सील बंद साक्ष्यों को अदालत के समक्ष पेश किया गया। अमन पर जिस हथियार से फायरिंग हुई थी, उस ऑटोमेटिंग माउजर पर सिंदूर लगा था जबकि एक अन्य माउजर को भी कोर्ट के समक्ष पेश किया गया। दोनों हथियार सामान्य पिस्टल की तुलना में अधिक वजनी हैं।

बरामद हथियारों के संबंध में पुलिस की ओर से जब्ती सूची तैयार की गई है, जिसमें हथियार बरामदगी का स्थान धनबाद मंडल कारा के पश्चिमी ऊंची दीवार के बाहर संतरी पोस्ट नंबर 2/3 के उत्तर पश्चिम स्थित सीवरेज टंकी के पास झड़ी बताया गया। जब्त सामान में एक ऑटोमेटिक देसी पिस्टल, जिसके बट पर फाइबर का ग्रीप लगा हुआ था तथा उस पर स्टार मार्क बना हुआ था। इस पिस्टल के साथ पांच जिंदा गोली, जो पिस्टल में लोड था तथा पेंदे पर 7.62 लिखा हुआ था। दूसरा एक काले रंग का ऑटोमेटिक देसी पिस्टल जिस पर फाइबर का ग्रीप लगा हुआ तथा मैगजीन में कोई गोली नहीं पाई गई थी। इस पिस्टल पर मेड इन इटली लिखा हुआ पाया गया। इसके अलावा जब्ती सूची में मेडिकल वार्ड से खून लगा हुआ कंबल व अन्य सामान बरामद किया गया। चार-पांच खोखे व एक पिलेट भी घटनास्थल से बरामद किए गए थे।

कहीं जेल के बाहर से तो नहीं फेंका गया हथियार

पुलिस ने कोर्ट को बताया कि दोनों पिस्टल जेल की ऊंची दीवार से करीब 25 फीट की दूरी पर पाए गए थे। कयास लगाए जा रहे हैं कि कहीं पिस्टल किसी ने धनबाद जेल के बाहर से तो अंदर नहीं फेंके थे। दरअसल बाहर से यदि कोई सामान अंदर फेंका जाए तो वह अंदर आ सकता है। बताया जा रहा है कि कई बार जेल में जवानों की कमी के कारण सभी टावरों पर जवानों की ड्यूटी नहीं लगाई जाती। अपराधी खाली टावर का फायदा उठा सकते हैं।

अमन की मौत की सूचना जेल प्रशासन ने दी कोर्ट को

धनबाद मंडल कारा प्रशासन ने विचाराधीन बंदी अमन सिंह की मौत की सूचना संबंधित अदालतों को दे दी है। जेल प्रशासन की ओर से उन अदालतों को सूचना दी गई है, जिसमें अमन सिंह का मामला सुनवाई के लिए लंबित था।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें