DA Image
15 सितम्बर, 2020|10:55|IST

अगली स्टोरी

बीआईटी सिंदरी को स्वायत्त संस्था बनाने का आजसू ने किया विरोध

default image

आजसू पार्टी के जिला अध्यक्ष मंटू महतो ने झारखंड सरकार द्वारा बीआईटी सिंदरी को स्वायत्तता की दर्जा देने के निर्णय का विरोध किया है। उन्होंने कहा कि इस निर्णय से राज्य के गरीब छात्रों को यहां पढ़ने में दिक्कत होगी।

आजसू जिलाध्यक्ष ने कहा कि झारखंड में एकमात्र बीआईटी सिंदरी कॉलेज है, जो सीधे तौर पर राज्य सरकार द्वारा संचालित होता है। इससे झारखंड के गरीब मध्यवर्गीय परिवार के मेधावी छात्र-छात्राएं कम पैसो में तकनीकी शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं। लेकिन स्वायत्तता होते है ही देशभर के छात्र इस संस्थान में आने लगेंगे। झारखंड के बच्चों का अधिकार छिन जाएगा। पैसों का खेल शुरू हो जाएगा। डोनेशन सिस्टम चालू हो जाएगा। संपन्न लोग अपने बच्चों का दाखिला पैसों के बल पर करायेंगे। झारखंड के गरीब मध्यवर्गीय परिवार के बच्चों के अधिकार का हनन होगा। उन्होंने कहा कि ऐसे भी बीआईटी सिंदरी में भ्रष्टाचार चरम सीमा पर है। अगर सरकार ईमानदारी से जांच कराए तो विभिन्नि विभागों में करोड़ों के घोटाला का खुलासा (पर्दाफाश) होगा। आजसू ने कहा कि सरकार अगर निर्णय वापस नहीं लेती है तो इसके खिलाफ आंदोलन किया जाएगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:AJSU opposes making BIT Sindri an autonomous body