DA Image
हिंदी न्यूज़ › झारखंड › धनबाद › धनबाद रेलवे स्टेशन पहुंचे एडीजी, शराबियों के अड्डे पर चला डंडा
धनबाद

धनबाद रेलवे स्टेशन पहुंचे एडीजी, शराबियों के अड्डे पर चला डंडा

हिन्दुस्तान टीम,धनबादPublished By: Newswrap
Tue, 03 Aug 2021 05:51 AM
धनबाद। लखन वर्मा और राहुल वर्मा 27 जुलाई की रात पाथरडीह से ऑटो लेकर धनबाद स्टेशन पहुंचे थे। धनबाद रेलवे स्टेशन के सर्कुलेटिंग एरिया में फव्वारे...
1 / 2धनबाद। लखन वर्मा और राहुल वर्मा 27 जुलाई की रात पाथरडीह से ऑटो लेकर धनबाद स्टेशन पहुंचे थे। धनबाद रेलवे स्टेशन के सर्कुलेटिंग एरिया में फव्वारे...
धनबाद। लखन वर्मा और राहुल वर्मा 27 जुलाई की रात पाथरडीह से ऑटो लेकर धनबाद स्टेशन पहुंचे थे। धनबाद रेलवे स्टेशन के सर्कुलेटिंग एरिया में फव्वारे...
2 / 2धनबाद। लखन वर्मा और राहुल वर्मा 27 जुलाई की रात पाथरडीह से ऑटो लेकर धनबाद स्टेशन पहुंचे थे। धनबाद रेलवे स्टेशन के सर्कुलेटिंग एरिया में फव्वारे...

धनबाद। लखन वर्मा और राहुल वर्मा 27 जुलाई की रात पाथरडीह से ऑटो लेकर धनबाद स्टेशन पहुंचे थे। धनबाद रेलवे स्टेशन के सर्कुलेटिंग एरिया में फव्वारे (फाउंटेन) के सामने उन्होंने ऑटो खड़ा किया था। इसके बाद दोनों रेलवे ऑडिटोरियम के सामने लगे खाने के सामान वाले ठेले पर गए। ठेले पर उन्होंने चखना खरीदा और वहीं दोनों ने छक कर शराब पी। ठेले पर ही दोनों खाना भी खाया था। एसआईटी की जांच में इस बात का खुलासा हुआ है।सोमवार की रात एडीजी अभियान संजय आनंद लाटकर एसएसपी संजीव कुमार के साथ धनबाद स्टेशन पहुंचे। वहां उन्होंने सर्कुलेटिंग एरिया में पार्किंग संचालक रिंकू मौलाना और पार्किंग कर्मी कल्लू व राकेश सहित अन्य से पूछताछ की। पूछताछ में एसआईटी को पता चला कि लखन और राहुल अक्सर ऑटो स्टैंड आते थे। पार्किंग के कर्मियों ने उनकी पहचान की। इधर, एसआईटी के निर्देश पर रेल डीएसपी संजीव बेसरा सोमवार को रेलवे स्टेशन पर लगे सीसीटीवी फुटेज की जांच के लिए आरपीएफ कंट्रोल पहुंचे। बताया जा रहा है कि घटना के बाद ऑटो के पीछे जा रहे बाइक सवार धनसार निवासी बीसीसीएलकर्मी श्रवण सिंह उस दिन वनांचल स्पेशल से सुबह रेलवे स्टेशन पर उतरे थे। स्टेशन के सीसीटीवी से ही पुलिस श्रवण तक पहुंची। एडीजी धनबाद रेलवे स्टेशन रोड पहुंचे, तो उन्होंने सड़क किनारे संचालित कई खाने-पीने की फुटपाथ दुकान देखी। एडीजी के आदेश पर रेल पुलिस और जिला पुलिस ने संयुक्त रूप से तत्काल फुटपाथ दुकानदरों की दुकानें हटवाईं। झोपड़ीनुमा दुकान और ठेलों को फौरन सड़क से हटाने को कहा गया। चाय, लिट्टी सहित खाने-पीने की अन्य दुकानें देखते-देखते उजड़ गईं।रेलवे स्टेशन से एडीजी पाथरडीह भोरिक खटाल निवासी ऑटो मालकिन सुगनी देवी लोहारिन से पूछताछ करने पहुंचे। करीब आधे घंटे तक एडीजी ने सुगनी देवी से पूछताछ की। सुगनी ने एडीजी को बताया कि ऑटो कहां खड़ा था। उन्हें कब जानकारी मिली कि ऑटो चोरी हुई है। पूछताछ के बाद एडीजी लौट आए।

संबंधित खबरें