DA Image
14 अगस्त, 2020|8:52|IST

अगली स्टोरी

नक्सली बनकर केमिस्ट से मांगी 20 लाख रंगदारी

नक्सली बनकर केमिस्ट से मांगी 20 लाख रंगदारी

1 / 2तोपचांची कांडेडीह में दवा दुकान चलानेवाले जयप्रकाश मंडल उर्फ डॉक्टर साहब से 20 लाख रुपए रंगदारी मांगने के मामले में पकड़े गए दोनों आरोपियों को पुलिस ने गुरुवार को जेल भेज...

नक्सली बनकर केमिस्ट से मांगी 20 लाख रंगदारी

2 / 2तोपचांची कांडेडीह में दवा दुकान चलानेवाले जयप्रकाश मंडल उर्फ डॉक्टर साहब से 20 लाख रुपए रंगदारी मांगने के मामले में पकड़े गए दोनों आरोपियों को पुलिस ने गुरुवार को जेल भेज...

PreviousNext

तोपचांची कांडेडीह में दवा दुकान चलानेवाले जयप्रकाश मंडल उर्फ डॉक्टर साहब से 20 लाख रुपए रंगदारी मांगने के मामले में पकड़े गए दोनों आरोपियों को पुलिस ने गुरुवार को जेल भेज दिया। ग्रामीण एसपी अमित रेणु ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए बताया कि कांड में संलिप्त तोपचांची लोकबाद के अकबर के बेटे आफताब आलम और जावेद अख्तर नक्सली का भय दिखाकर केमिस्ट से रंगदारी मांग रहे थे।

28 अप्रैल को जयप्रकाश ने मामले की शिकायत तोपचांची थाने में की थी। मामले की गंभीरता को देखते हुए बाघमारा एसडीपीओ नितिन खंडेलवाल के नेतृत्व में एक टीम बनाई गई। टेक्निकल सेल की मदद से पुलिस ने रंगदारी मांग रहे दोनों आरोपियों को चिह्नित कर बुधवार को दबोच लिया। दोनों ने बताया कि इस साजिश में उनके साथ कतरास जमुआटांड़ निवासी राजू मंडल भी शामिल था। राजू की तलाश में पुलिस ने छापेमारी की, लेकिन वह अपने घर पर नहीं मिला।

एप की मदद से करते थे इंटरनेट कॉलिंग

जनवरी महीने में पहले तीनों ने मिलकर नक्सलियों की तरह जयप्रकाश के घर के बाहर पोस्टरिंग कर उन्हें धमकाया था। दोनों ने बताया कि जयप्रकाश के एनएच-2 में स्थित एक जमीन को सरकार ने अधिग्रहित किया गया था। इसके एवज में उसे मोटी रकम मिली थी। इसी रकम पर तीनों की नजर थी। पोस्टरिंग करने के एक सप्ताह बाद मोबाइल में इंडिकॉल एप डाउनलोड कर तीनों ने जयप्रकाश को इंटरनेट कॉल किया। 28 अप्रैल को उन्होंने एक मोबाइल नंबर से भी जयप्रकाश को फोन कर रुपए देने अन्यथा परिवार के लोगों को जान से मारने की धमकी दी। धमकी से भयभीत जयप्रकाश ने मामले की शिकायत तोपचांची थाने को दी। बातचीत के दौरान बाघमारा एसडीपीओ नितिन खंडेलवाल, टीम में शामिल तोपचांची थाना प्रभारी सुरेश मुंडा, सब इंस्पेक्टर नीरज झा, शंकर कुमार रजक, टेक्निकल सेल के अफसर राधा सिंह आदि उपस्थित थे।

आईटीआई ग्रेजुएट आरोपी शार्टकट तरीके से कमाना चाहते थे रकम

ग्रामीण एसपी ने बताया कि तीनों आरोपी में आफताब आलम और राजू मंडल आईटीआई की पढ़ाई करने के बाद ग्रेजुएशन तक की पढ़ाई की है। दोनों दिल्ली में रह कर नौकरी कर रहे थे। जबकि जावेद अख्तर गाड़ी चलाता था। दिल्ली में ही आफताब और रघु ने कमाई की यह तरकीब सोची थी। तोपचांची पहुंच कर दोनों ने जावेद अख्तर को भी इस प्लान में शामिल किया। सभी शार्टकट तरीके से रकम कमाना चाहते थे। पूछताछ के दौरान पहले दोनों आरोपियों ने पुलिस को बरगलाने का प्रयास किया। लेकिन कड़ाई से पूछताछ होने पर दोनों टूट गए।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:20 lakh extortion sought from chemist by becoming a naxalite