DA Image
30 नवंबर, 2020|11:03|IST

अगली स्टोरी

डेको आउटसोर्सिंग फायरिंग में 18 पर केस, तीन गए जेल

default image

ईस्ट बसुरिया ओपी क्षेत्र के निचितपुर कोलियरी की परियोजना में संचालित डेको आउटसोर्सिंग कंपनी में सोमवार को जनता मजदूर संघ (बच्चा गुट) व आउटसोर्सिंग कर्मियों के बीच हुए हिंसक झड़प व गोली चालन से दोनों पक्षों के लोगों के बीच तनाव व्याप्त है। तनाव को देखते हुए मंगलवार को भी आउटसोर्सिंग स्थल पर पुलिस मुस्तैद रही। इस मामले में 18 नामजद सहित 100 से अधिक अज्ञात के खिलाफ ईस्ट बसुरिया ओपी में प्राथमिकी दर्ज की गई है। वहीं आर्म्स एक्ट के तहत लोयाबाद थाना में आरोपी बने तीनों आरोपियों को मंगलवार को जेल भेज दिया गया।

इस विवाद के बाद बांसजोड़ा में भी दहशत का माहौल है। यहां पुलिस भी एम्बुलेंस के साथ तैनात थी। हलांकि मंगलवार की सुबह से ही कांटा घर चालू था। थाना प्रभारी अमित मार्गी ने बताया कि कट्टा और गोली के साथ गिरफ्तार यूपी का युवराज पाठक, रवि कुमार राय, गुलाम रसूल को जेल भेज दिया गया है। आउटसोर्सिंग में कार्यरत कर्मी भयपूर्ण वातावरण में कार्य कर रहे हैं। तेतुलमारी, ईस्ट बसुरिया व लोयाबाद थाना की पुलिस लगातार आरोपियों को पकड़ने के लिए छापामारी कर रही है। ईस्ट बसुरिया ओपी में ओपी प्रभारी शमशेर आलम की शिकायत पर एफआईआर दर्ज की गयी है। उल्लेखनीय है कि सोमवार को डेको आउटसोर्सिंग परियोजना में बम व गोलियों से परियोजना दहल उठा था। जिसमें कई लोग घायल भी हुए थे। इस दौरान कई थानों की पुलिस समेत डीएसपी ने पहुंचकर मामले को शांत कराया था। वहीं प्रभारी एसएसपी आर रामकुमार भी लगातार लोयाबाद में कैंप कर रहे है। उन्होंने मंगलवार को कई पीड़ितों से मिल कर घटना के संबंध में जानकारी भी ली। डीएसपी लॉ एंड आर्डर मुकेश कुमार और बाघमारा डीएसपी नितिन खंडेलवाल सहित कई थानों के प्रभारी फोर्स के साथ क्षेत्र में सक्रिय दिखे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:18 cases in deco outsourcing firing three went to jail