DA Image
हिंदी न्यूज़ › झारखंड › देवघर › भुरकुंडी का कड़रासाल बनेगा कुपोषणमुक्त गांव
देवघर

भुरकुंडी का कड़रासाल बनेगा कुपोषणमुक्त गांव

हिन्दुस्तान टीम,देवघरPublished By: Newswrap
Sat, 31 Jul 2021 04:32 AM
भुरकुंडी का कड़रासाल बनेगा कुपोषणमुक्त गांव

पालाज़ोरी। भुरकुंडी पंचायत का कडरासाल गांव का चयन कुपोषणमुक्त गांव बनाने के लिए किया गया है। इसको अंजाम तक पहुंचाने के लिए विभागीय स्तर पर कवायद शुरू हो गई है। कुपोषण मुक्त गांव के अभियान को सफल बनाने के लिए सीडीपीओ कुमारी ऋतु ने भुरकुंडी पंचायत के कडरासाल में बैठक सह प्रशिक्षण का आयोजन किया। प्रशिक्षण में सेविका, सहायिका, सहिया, तेजस्विनी प्रोजेक्ट के युवा उत्प्रेरक को बताया गया कि किस तरह से पूरे गांव के 0 से 5 वर्ष तक के बच्चों की स्क्रीनिंग कर कुपोषण के स्तर की जानकारी लेनी है। इसके लिए विभिन्न उपकरणों का उपयोग कैसे करना है, इसकी जानकारी दी गई। कोविड अनुरूप अभ्यास के तहत बच्चों की स्क्रीनिंग डोर टू डोर करनी है। टीम सदस्यों को मास्क के साथ गृह भ्रमण करना है और उपकरणों को सैनीटाइज करते रहना है।

सीडीपीओ ने बताया कि कुपोषणमुक्त गांव एक अभियान है, इसके लिए भुरकुंडी पंचायत के कडरासाल गांव का चयन किया गया है। सेविका, सहायिका, सहिया, तेजस्वनी प्रोजेक्टकर्मी सहित गांव के प्रबुद्ध लोगों के सहयोग से अभियान को सफल बनाया जाना है। प्रशिक्षण सह बैठक के बाद एक सप्ताह के अंदर बच्चों की स्क्रीनिंग हो जानी है। स्क्रीनिंग के परिणाम के आधार पर आगे की योजना बनाकर काम किया जाएगा। मौके पर एलएस रेखा कुमारी, अंजनी कुमारी, पूनम कुमारी, सेविका गीता कुमारी, तेजस्विनी प्रोजेक्ट के वचनदेव कापरी आदि मौजूद थे।

संबंधित खबरें