ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंड देवघरज्ञान, भक्ति, वैराग्य की कथा से भक्त हुए भावविभोर

ज्ञान, भक्ति, वैराग्य की कथा से भक्त हुए भावविभोर

मधुपुर। पथरौल काली मंदिर प्रांगण में आयोजित नौ दिवसीय श्रीश्री 108 शतचंडी महायज्ञ के श्रीमद्भागवत कथा सुनने के लिए श्रोताओं की भीड़ उमड़ पड़ी। भागवत...

ज्ञान, भक्ति, वैराग्य की कथा से भक्त हुए भावविभोर
हिन्दुस्तान टीम,देवघरWed, 15 May 2024 12:46 AM
ऐप पर पढ़ें

मधुपुर। पथरौल काली मंदिर प्रांगण में आयोजित नौ दिवसीय श्रीश्री 108 शतचंडी महायज्ञ के श्रीमद्भागवत कथा सुनने के लिए श्रोताओं की भीड़ उमड़ पड़ी। भागवत कथा प्रारंभ से पूर्व राधे-राधे, श्री राधे के नाम से पूरा पंडाल गूंजता रहा। यज्ञ में महिलाओं की काफी संख्या दिखी। इस दौरान उपस्थित श्रद्धालु भागवत कथा के प्रसंग व भजन पर भक्ति में लीन होकर ताली बजाते हुए झूम रहे थे। वृंदावनधाम से आए कथा व्यास प्रकाश चन्द्र को सुनने के लिए श्रोताओं की भीड़ उमड़ पड़ी। प्रथम दिवस पर भागवत महात्मय अंतर्गत भक्ति ज्ञान वैराग्य की पुष्टि के लिए नारदजी द्वारा पर्यटन एवं धुंधकारी को प्रेमत्व से मुक्ति भागवत कथा श्रवण से हुई। इस कथा के माध्यम से यह सार बताया की भागवत पुराण श्रवण से बढ़कर दुनिया में अन्य कोई शांति का साधन नहीं है। 15 मई को भजन गायिका पल्लवी झा भजन प्रस्तुत करेंगी। जबकि 16 मई को डिम्पल भूमि, 17 मई को सुदेश सिंह, 18 गौतम दास बाउल, 19 को कोलकाता से आए भजन सम्राट शुभम भास्कर व उनकी टीम द्वारा आलौकिक झांकी प्रस्तुत करेंगे। महायज्ञ के अंतिम दिन 20 मई को भोजपुरी की प्रसिद्ध गायिका देवी के भजन संध्या कार्यक्रम से भक्त भाव-विभोर होंगे।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।