Ten years in jail for husband and mother-in-law in dowry murder - दहेज हत्या में पति व सास को दस साल कैद DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दहेज हत्या में पति व सास को दस साल कैद

दहेज के लिए हत्या से संबंधित एक मामले की पूरी सुनवाई के बाद देवघर के अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश द्वितीय महेन्द्र प्रसाद की अदालत ने आरोपी पति एवं सास को दोषी पाकर सजा सुनाई। सत्रवाद संख्या 186/15 के इस मामले में आरोपी पति विभीषण कापरी एवं सास बसुकी देव्या को भारतीय दंड विधान की धारा 304 बी/34 के तहत दोषी पाया गया एवं दस वर्ष सश्रम कैद की सजा सहित पति को दस हजार रुपये जुर्माने की सजा भी सुनाई गई। जुर्माना राशि अदा न करने पर तीन माह अतिरिक्त कारावास का दंड भी भोगना होगा। आरोप के अनुसार दहेज के रुप में पचास हजार रुपये नकद एवं मोटरसाइकिल की मांग पूरी नहीं करने पर अभियुक्त ने रिंकु देवी (अभियुक्त विभीषण कापरी की पत्नी) पर किरासन तेल छिड़ककर उसे जला दिया। यह घटना 11 अप्रेल 2014 को घटी थी। मृतका की मां इनीया देवी द्वारा सूचक के रुप में सारठ थाना कांड संख्या 34/14 के तहत मामला दर्ज कराया गया। सजा प्राप्त दोनों अभियुक्त सारठ थाना अन्तर्गत महेश लेटी ग्राम के रहनेवाले हैं। मामले में कुल 8 लोगों ने अपनी गवाही दी। गवाहों के परीक्षण/प्रतिपरीक्षण एवं उभय पक्ष की दलीलों को सुनने के बाद न्यायालय ने उपर्युक्त सजा सुनायी। मामले की सुनवाई के दौरान अभियोजन पक्ष की ओर से अपर लोक अभियोजक ब्रह्मदेव पाण्डेय ने एवं प्रतिरक्षा पक्ष की ओर से दिनेश्वर पंडित ने बहस में भाग लिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Ten years in jail for husband and mother-in-law in dowry murder