DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   झारखंड  ›  देवघर  ›  सुहागनों ने अखंड सुहाग के लिए बट वृक्ष में बांधा मनोकामना सूत्र

देवघरसुहागनों ने अखंड सुहाग के लिए बट वृक्ष में बांधा मनोकामना सूत्र

हिन्दुस्तान टीम,देवघरPublished By: Newswrap
Fri, 11 Jun 2021 04:30 PM
सुहागनों ने अखंड सुहाग के लिए बट वृक्ष में बांधा मनोकामना सूत्र

गुरुवार को मधुपुर शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में वट-सावित्री की पूजा पूरी आस्था व श्रद्धा के साथ की गयी। इस दौरान कोविड गाइडलाइन का पालन करते हुए सभी विवाहित महिलाएं नये वस्त्र पहनकर बांस का पंखा, पांच प्रकार के पकवान, मौसमी फल, अरवा चावल आदि से वट-वृक्ष की पूजा की। इस दौरान अपने अखंड सुहाग के लिए वृक्ष में धागा भी बांधा। वहीं एक-दूसरे को सिंदूर लगाकर पति की दीर्घायु के लिए आशीर्वाद लिया। कहा जाता है कि सावित्री अपने पति सत्यवान की लंबी आयु के लिए बरगद पेड़ की पूजा करती थी। इससे अपने पति की मृत्यु के बाद भी वापस जिंदा करा लिया। सुहागन महिलाओं द्वारा हर साल ज्येष्ठ मास की अमावस्या को बट सावित्री व्रत रखती आ रही हैं। पूजा करा रहे पंडित राम नरेश शर्मा ने बताया कि धर्मशास्त्र में ऐसी मान्यता है कि बट वृक्ष की जड़ों में ब्रह्मा, तने में भगवान विष्णु व शाखा व पत्तों में भगवान शंकर विराजमान रहते हैं। सती सावित्री की कथा सुनने या वाचन करने से अखंड सौभाग्य की कामना पूरी होती है।

संबंधित खबरें