DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   झारखंड  ›  देवघर  ›  सारठ : ओपीडी सेवा बंद रहने से ग्रामीण हो रहे परेशान
देवघर

सारठ : ओपीडी सेवा बंद रहने से ग्रामीण हो रहे परेशान

हिन्दुस्तान टीम,देवघरPublished By: Newswrap
Thu, 17 Jun 2021 06:21 AM
सारठ : ओपीडी सेवा बंद रहने से ग्रामीण हो रहे परेशान

सारठ : ओपीडी सेवा बंद रहने से ग्रामीण हो रहे परेशान

सारठ प्रतिनिधि

कोविड-19 से जहां आम जन-जीवन त्रस्त हो गया है, वहीं दूसरी ओर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की मनमानी से जनता त्रस्त है। लॉकडाउन से बेरोजगारी चरम पर पहुंच गया है वहीं ग्रामीण क्षेत्र में अधिकतर बीमार लोग झोलाछाप डॉक्टर के चंगुल में फंसकर आर्थिक रूप से कमजोर हो रहे हैं। कोरोना काल और बरसात के मौसम में प्रखंड क्षेत्र के दूर-दराज से ग्रामीण सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मुरचुरा इलाज कराने पहुंचते है, लेकिन सीएचसी के ओपीडी में डॉक्टर नहीं बैठने के कारण बिना इलाज कराये मरीजों को वापस लौटना पड़ रहा है। कुछ ग्रामीण बताते हैं कि लॉकडाउन में काम-काज बंद रहने से खाने के लाले पड़ गए हैं। अधिकतर लोग मौसमी बीमारी पर सीएचसी इलाज कराने आते हैं कि किसी तरह नि:शुल्क इलाज करा सकें, लेकिन डॉक्टर नहीं रहने के काफी कठनाईयों का सामना करना पड़ता है। बुधवार को अपराह्न 1 बजे सबैजोर पंचायत के डांड़पोखर करैहिया गांव निवासी गीता देवी व रूपेश कुमार राय सुगर व बीपी समेत अन्य बीमारी का इलाज कराने अस्पताल आये, लेकिन घंटों बाद भी डॉक्टर नहीं मिले, अंतत: बगैर इलाज कराये वापस घूमकर जान पड़ रहा है। बताया कि गार्ड से जानकारी लेने पर बताया कि ओपीडी में डॉक्टर नहीं बैठते हैं। प्रयोगशाला के पास बहुत देर तक खड़े रहने पर भी कोई कर्मी नजर नहीं आया। बताया कि एक बजे आये हैं, यहां न डॉक्टर है ना ही प्रयोगशाला में कोई कर्मी है। गांव से उम्मीद लगाकर आये लेकिन इलाज नहीं हो पाया।

क्या कहते हैं चिकित्सा प्रभारी :-

मामले को लेकर चिकित्सा प्रभारी डॉ. जियाउल हक ने बताया कि इमरजेंसी सेवा बहाल है। ओपीडी सेवा कोरोना काल को लेकर सभी जगह में बंद है। सारठ सीएचसी में जल्द ओपीडी सेवा बहाल करायी जाएगी।

संबंधित खबरें