DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   झारखंड  ›  देवघर  ›  कोचिंग के शिक्षकों की स्थिति दयनीय
देवघर

कोचिंग के शिक्षकों की स्थिति दयनीय

हिन्दुस्तान टीम,देवघरPublished By: Newswrap
Thu, 17 Jun 2021 06:21 AM
कोचिंग के शिक्षकों की स्थिति दयनीय

कोचिंग के शिक्षकों की स्थिति दयनीय

मधुपुर प्रतिनिधि

कोरोना महामारी के कारण निजी कोचिंग संचालकों की आर्थिक स्थिति काफी दयनीय हो गई है। मार्च के शुरुआत से ही क़रीब सारे कोचिंग संस्थान बंद चल रहे हैं। चार महीने से कोई आमदनी नहीं हुई है। सरकार जो गाइड-लाइन जारी करती है, उसमें यूनिवर्सिटी-कॉलेज का ज़िक्र तो होता है लेकिन कोचिंग संस्थानों के बारे में कोई चर्चा नहीं होती। ज़्यादातर कोचिंग संस्थान किराए के मकानों में चलते हैं, जिस कारण मकान किराए के साथ जीवन-यापन के लिए विकट समस्या उठ खड़ी हुई है। कोरोना वायरस से बचाव को लेकर जारी लॉकडाउन की वजह ट्यूशन और छोटे कोचिंग पूरी तरह से बंद हैं। ट्यूशन और घर या किराए पर कोचिंग चलाने वाले शिक्षकों के लिए ऑनलाइन व्यवस्था करना काफी कठिन है। शिक्षकों के सामने बेरोजगारी की समस्या उत्पन्न हो गई है और ऐसी स्थिति में शिक्षक डिप्रेशन का भी शिकार हो रहे हैं।

संबंधित खबरें