ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News झारखंड देवघरट्रैक्शन तार टूटने पर वंदे भारत समेत कई ट्रेनों का परिचालन बाधित

ट्रैक्शन तार टूटने पर वंदे भारत समेत कई ट्रेनों का परिचालन बाधित

- जोड़ामो-मधुपुर के बीच एलसी नंबर 17 स्पेशल गेट के समीप बूम और ट्रैक्शन तार टूटा - जोड़ामो-मधुपुर के बीच एलसी नंबर 17 स्पेशल गेट के समीप बूम और...

- जोड़ामो-मधुपुर के बीच एलसी नंबर 17 स्पेशल गेट के समीप बूम और ट्रैक्शन तार टूटा - जोड़ामो-मधुपुर के बीच एलसी नंबर 17 स्पेशल गेट के समीप बूम और...
1/ 3- जोड़ामो-मधुपुर के बीच एलसी नंबर 17 स्पेशल गेट के समीप बूम और ट्रैक्शन तार टूटा - जोड़ामो-मधुपुर के बीच एलसी नंबर 17 स्पेशल गेट के समीप बूम और...
- जोड़ामो-मधुपुर के बीच एलसी नंबर 17 स्पेशल गेट के समीप बूम और ट्रैक्शन तार टूटा - जोड़ामो-मधुपुर के बीच एलसी नंबर 17 स्पेशल गेट के समीप बूम और...
2/ 3- जोड़ामो-मधुपुर के बीच एलसी नंबर 17 स्पेशल गेट के समीप बूम और ट्रैक्शन तार टूटा - जोड़ामो-मधुपुर के बीच एलसी नंबर 17 स्पेशल गेट के समीप बूम और...
- जोड़ामो-मधुपुर के बीच एलसी नंबर 17 स्पेशल गेट के समीप बूम और ट्रैक्शन तार टूटा - जोड़ामो-मधुपुर के बीच एलसी नंबर 17 स्पेशल गेट के समीप बूम और...
3/ 3- जोड़ामो-मधुपुर के बीच एलसी नंबर 17 स्पेशल गेट के समीप बूम और ट्रैक्शन तार टूटा - जोड़ामो-मधुपुर के बीच एलसी नंबर 17 स्पेशल गेट के समीप बूम और...
हिन्दुस्तान टीम,देवघरTue, 05 Mar 2024 01:00 AM
ऐप पर पढ़ें

मधुपुर प्रतिनिधि
आसनसोल-झाझा मुख्य रेलखंड के जोड़ामो मधुपुर के बीच एलसी नंबर 17 स्पेशल गेट के समीप बूम और ट्रैक्शन तार टूट जाने से सोमवार को रेल परिचालन करीब 3 घंटे तक बाधित रहा। हालांकि आंधी की वजह से गेट का बूम और ट्रैक्शन तार टूटने कोई बड़ी अप्रिय घटना नहीं हुई। ट्रैक्शन तार टूटने की वजह से वंदे भारत समेत करीब एक दर्जन एक्सप्रेस ट्रेनों को विभिन्न स्टेशनों पर नियंत्रित किया गया। जानकारी के अनुसार वंदे भारत को विद्यासागर स्टेशन पर कंट्रोल किया गया। वहीं अपलाइन की वंदे भारत एक्सप्रेस 9 बजे डाउन लाइन से पायलटिंग करते हुए पास करायी गयी। इधर अब सियालदह-बलिया डाउन, बलिया-सियालदह एक्सप्रेस, रांची इंटरसिटी एक्सप्रेस, पाटलिपुत्र एक्सप्रेस, अप पूर्वांचल एक्सप्रेस, आसनसोल-जसीडीह मेमो समेत कई ट्रेनों का परिचालन बाधित रहा। ट्रैक्शन तार टूटने के कारण यात्रियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें