DA Image
21 जनवरी, 2020|7:50|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारत की पहचान है खादी : निशिकांत दुबे

खादी भारत की पहचान है। आजादी की लड़ाई से लेकर आज के समय तक खादी की विशेष पहचान कायम है। उक्त बातें भाजपा सांसद डॉ. निशिकांत दुबे ने शुक्रवार को देवघर में राज्स्तरीय खादी एवं ग्रामोद्योग महोत्सव उद्घाटन के दौरान कही। नगर के शिवलोक परिसर मदरसा ग्राउंड में महोत्सव उद्घाटन के बाद उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि खादी से बेहतर दूसरा कोई कपड़ा नहीं हो सकता है। जिस महात्मा गांधी की 150वीं जन्म शताब्दी वर्ष के अवसर पर इस राज्यस्तरीय खादी एवं ग्रामोद्योग महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है खादी को बढ़ावा देने में बापू की बड़ी भूमिका रही है। खादी भारतीय नेताओं से लेकर आमजन तक का परिधान बन गया है। भारत के अलावे विश्व के अन्य देशों में भी इसकी मांग समय के साथ बढ़ रही है। समय के अनुसार खादी के कपड़े भी बदल रहे हैं। आज के समय की मांग के अनुरूप खादी से कपड़े तैयार किए जा रहे हैं। युवाओं में खादी के प्रति क्रेज तेजी से बढ़ रहा है। स्वदेशी वस्तुओं के अपनाने की दिशा में खादी की बड़ी भूमिका है। मौके पर स्थानीय विधायक नारायण दास ने भी उपस्थित लोगों को संबोधित किया। उन्होंने भी लोगों से खादी को अपनाने की सलाह दी। मौके पर देवघर नगर निगम की डिप्टी मेयर नीतू देवी, रेड क्रॉस सोसायटी के अरुण गुटगुटिया, मधुपुर के पूर्व नप अध्यक्ष संजय यादव, डॉ. राजीव रंजन सिंह, विपिन मिश्रा, देवता पाण्डेय, मुकेश पाठक, प्रिंस सिंघल, भाजयुमो जिलाध्यक्ष अभय आनंद झा सहित बड़ी संख्या में नेता-कार्यकर्ता मौजूद थे। मेला का आयोजन खादी और ग्रामोद्योग आयोग व संतालपरगना ग्रामोद्योग समिति की ओर से किया गया है।

केनाल मिट्टी कार्य का शिलान्यास : इससे पूर्व सांसद व विधायक ने संयुक्त रूप से पुनासी जलाशय योजना के अंतर्गत केनाल में मिट्टी कटाई कार्य का शिलान्यास भी देवघर प्रखण्ड में किया। 54 करोड़ रुपए की लागत से मिट्टी कटाई का कार्य किया जाना है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:India s identity is Khadi Nishikant Dubey