ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News झारखंड देवघरपूर्व रेलवे : 28 स्टेशनों का कायाकल्प, पीएम मोदी कल रखेंगे आधारशिला

पूर्व रेलवे : 28 स्टेशनों का कायाकल्प, पीएम मोदी कल रखेंगे आधारशिला

- आसनसोल मंडल के सात स्टेशनों का भी होगा कायाकल्प - आसनसोल मंडल के सात स्टेशनों का भी होगा कायाकल्प - देवघर, बासुकीनाथ, दुमका, जामताड़ा, पानागढ़,...

पूर्व रेलवे : 28 स्टेशनों का कायाकल्प, पीएम मोदी कल रखेंगे आधारशिला
हिन्दुस्तान टीम,देवघरSun, 25 Feb 2024 12:45 AM
ऐप पर पढ़ें

जसीडीह प्रतिनिधि
26 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारतीय रेलवे में 41000 करोड़ की रेलपरियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण करेंगे। अमृत योजना के तहत 554 रेलवे स्टेशनों का कायाकल्प होने जा रहा है। इसमें पूर्व रेलवे के 28 स्टेशन समेत आसनसोल रेल मंडल के सात स्टेशनों और 1500 रेल फ्लावर रेल अंडरपास का शिलान्यास एवं लोकार्पण शामिल है। आसनसोल डीआरएम चेतना नंद सिंह ने मंडल में चल रहे विकास कार्यों और स्टेशनों के पुनर्विकास के बारे में जानकारी दी। विकसित रेल विकसित भारत 2047 के दृष्टिकोण के साथ देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 6 अगस्त, 2023 को 27 राज्यों में अमृत भारत स्टेशन योजना के तहत 508 स्टेशनों के पुनर्विकास की आधारशिला रखी थी। प्रधानमंत्री योजना के तहत भारतीय रेलवे के 554 स्टेशनों, आसनसोल मंडल के 7 स्टेशनों सहित पूर्व रेलवे के 28 स्टेशनों की आधारशिला रखने जा रहे हैं। सभी स्टेशन चिन्हित कर लिए गए हैं। प्रधानमंत्री देवघर स्टेशन पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से इन स्टेशनों की आधारशिला रखेंगे। डीआरएम ने कहा कि मंडल में नई लाइनों से लेकर रोड अंडर ब्रिज (आरयूबी), सीमित ऊंचाई वाले सबवे (एलएचएस) निर्माण और अमृत भारत स्टेशन योजना के तहत स्टेशनों के पुनर्विकास का कार्य बड़े पैमाने पर चल रहा है। 26 फरवरी, 2024 को अमृत स्टेशन योजना के तहत आसनसोल मंडल में 7 से अधिक स्टेशनों, 11 सीमित ऊंचाई वाले सबवे (एलएचएस) का प्रधानमंत्री द्वारा शिलान्यास कर राष्ट्र को समर्पण किया जाएगा। वर्तमान में मंडल में 15 रेलवे स्टेशन हैं, जहां, अमृत स्टेशन योजना के तहत पुनर्विकास की प्रक्रिया चल रही है। मंडल के इन 7 अमृत स्टेशनों को आर्थिक केंद्र, स्थानीय उपज और माल को बड़े बाजार तक पहुंचाने के लिए केंद्र बनाने की भी परिकल्पना की गई है। वैश्विक मानकों के अनुरूप यात्रियों को प्रशिक्षित करने के लिए आधुनिक सुविधाएं और विश्व स्तरीय सुविधाएं प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है। आसनसोल मंडल ने अमृत स्टेशन योजना के तहत बासुकीनाथ, देवघर, दुमका, जामताड़ा, पानागढ़, शंकरपुर और विद्यासागर स्टेशनों को पुनर्विकसित करने का कार्य हाथों में लिया है।

आवश्यकता के अनुसार यात्रियों के लिए सुविधाएं : प्रत्येक स्टेशन की आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए स्टेशन तक पहुंचने वाली सड़कों, सर्कुलेटिंग एरिया, वेटिंग हॉल, शौचालय, आवश्यकतानुसार लिफ्ट, एस्केलेटर, स्वच्छता, नि:शुल्क वाई-फाई, एक स्टेशन एक उत्पाद जैसी योजनाओं के माध्यम से स्थानीय उत्पादों के लिए कियोस्क, बेहतर यात्री सूचना प्रणाली, एक्जीक्यूटिव लाउंज, व्यावसायिक बैठकों के लिए नामांकित स्थान, भू-दृश्य (लैंडस्केपिंग) आदि जैसी सुविधाओं में सुधार के लिए मास्टर प्लान तैयार किया गया है। विशेष रूप से अमृत स्टेशन योजना के तहत, आसनसोल मंडल के सभी चयनित छोटे स्टेशन- बासुकीनाथ, देवघर, दुमका, जामताड़ा, पानागढ़, शंकरपुर, विद्यासागर को उन्नत यात्री सुविधाएं मिलेंगी। चौड़े फुट-ओवर ब्रिज (एफओबी), फ्रंटेज सुधार, विशाल प्रतीक्षा क्षेत्र, सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से निगरानी, भोजन कियोस्क और एस्केलेटर शामिल हैं। समपार (लेवल क्रॉसिंग) फाटकों को रोड अंडर ब्रिज (आरयूबी), सीमित ऊंचाई वाले सबवे (एलएचएस) द्वारा प्रतिस्थापित कर ट्रेनों की सेक्शनल गति बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध है। रेलवे ने लेवल क्रॉसिंग पर अधिक से अधिक रोड अंडर ब्रिज (आरयूबी), सीमित ऊंचाई वाले सबवे (एलएचएस) के निर्माण पर जोर दिया है। स्थानीय यात्रियों के लिए सुरक्षा और सुविधा की दिशा में महत्वपूर्ण कदम उठाते हुए, पूर्व रेलवे का मंडल 11 सीमित ऊंचाई सबवे (एलएचएस) का निर्माण कर रहा है। स्टेशन पुनर्विकास कार्यों की प्रचूरता से रोजगार और नए व्यापार के अवसर पैदा होंगें।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें