DA Image
16 नवंबर, 2020|7:45|IST

अगली स्टोरी

बाबानगरी : शारदीय नवरात्र को लेकर उत्साह चरम पर

default image

चलो बुलावा आया है माता ने बुलाया है, ओ शेरावाली माता तेरी जय हो की बज रही धुन के कारण देवनगरी देवघर इन दिनों लोगों को अलौकिक भक्ति का अहसास करा रही है। सभी पूजा स्थलों में माता दुर्गा की प्रतिमा स्थापित हो चुकी हैं। मां का दरबार भी सज गया है। पुरोहितजनों मंत्रों से समूचा देवघर गुंजायमान हो रहा है।

शहर के हर एक कोने में मां की भक्ति की बयार बह रही है। लोग अपने परिजनों के साथ महिषासुरमर्दनी मां दुर्गा का दर्शन कर धन्य हो रहे हैं। इस बीच महासप्तमी के शुभ अवसर पर भक्तों के बीच मां के चरण स्पर्श करने के लिए होड़ सी लगी रही। सभी पूजा स्थलों में सुबह से लेकर दोपहर तक मां की पूजा चलती रही। इस बीच भक्तों ने भी पूजा-अर्चना करते देखे गये। वहीं शाम होते ही पूजा पंडालों में लोगों की भीड़ जुटनी प्रारंभ हो गई। भक्तों का जुटान देर रात तक होता रहा। इस क्रम में श्री कृष्णापुरी, ऊपर बिलासी, मध्य बिलासी, नीचे बिलासी (बरगाछ), गोशाला पूजा समिति, नवदुर्गा आदि पूजा पंडालों में हो रही दुर्गा पूजा को देखने के लिए भक्तों की भीड़ जुटी। उधर दूसरी ओर पौराणिक विधि से की जाने वाली दुर्गा पूजा की विभिन्न वेदी पर तरह-तरह के पुष्पों से माता की वेदी सजायी गयी है। यहां आधुनिक चकाचौंध से दूर का माहौल भक्तों को स्वत: एक स्फूर्ति प्रदान कर रहा है। इन पूजा मंडपों में पूजा करने के बाद भक्तजनों का कहना है कि पूजा के वक्त एक अलग प्रकार का एहसास होता है। इसमें देवघर का प्राचीनतम मंडप घड़ीदारघर, बाबा मंदिर स्थित भीतरखंड पूजा मंडप, श्यामा चरण मिश्र लेन, अभया दर्शन, भैया दालान, बासंती मंडप, भुरभुरा मोड़ अवस्थित हृदयपीठ, देवसंघ, बेला बगान दुर्गा मंडप आदि पूजा स्थल शामिल हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Babanagari Enthusiasm for Shardiya Navratri at its peak