Villagers of Ghaznaha took voting boycott said no road no vote - गजनाहा के ग्रामीणो बोले, रोड नहीं तो वोट नहीं DA Image
21 नबम्बर, 2019|12:41|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गजनाहा के ग्रामीणो बोले, रोड नहीं तो वोट नहीं

गजनाहा के ग्रामीणो बोले, रोड नहीं तो वोट नहीं

प्रखंड मुख्यालय से महज आठ किलोमीटर दूर हलमता पंचायत के गजनाहा गांव के लोगों ने इसबार वोट बहिष्कार का निर्णय लिया है। यह गांव आदिवासी तथा यादव जाति बहुल गांव है। गांव के लोगों का कहना है कि आजादी के बाद से सड़क की मांग करते-करते हमलोग गांव के लोग सिस्टम से हार चुके हैं। आजादी के बाद से आईटीआई कॉलेज से गजनाहा गांव तक तीन किलोमीटर सड़क निर्माण के लिए संघर्ष कर रहे ग्रामीणों का धैर्य अब जवाब दे चुका है। ग्रामीणों ने अब सड़क नहीं बनने पर विधानसभा चुनाव के बहिष्कार का फैसला किया है। ग्रामीणों में दिनेश उरांव, सुचिता उरांव, सुमन लकड़ा, बुटन उरांव, सुरेश यादव समेत अन्य ने कहा कि नगवां से आईटीआई कालेज तक तो किसी तरह हमलोग चले जाते हैं लेकिन आईटीआई कॉलेज से तीन किलोमीटर गजनाहा के ग्रामीणों के लिए कोई रोड नहीं है। ग्रामीणों द्वारा झाड़ी साफ कर कुछ रास्ता बनाया गया है, जो बरसात में पूरी तरह कीचड़ मय हो जाता है, और गाँव टापु बन जाता है । बरसात में स्थिति इतनी भयावह हो जाती है कि साईकिल मोटरसाइकिल तो दूर पैदल भी कपड़े खोलकर आना जाना पड़ता है । इस गांव के अधिकांश गरीबों का राशन कार्ड और विधवा पेंशन भी नहीं है। इन्हीं समस्याओं के कारण हमलोगों ने वोट का बहिष्कार किया है और कहा है कि रोड नहीं तो वोट नहीं । ग्रामीणों ने हलमता पंचायत के मुखिया पर भी जमकर भड़ास निकालते हुए कहा कि मुखिया सुनिता देवी से भी रोड निर्माण के लिए कई बार गुहार लगाया परन्तु कोई फायदा नहीं हुआ। इस बार पंचायत चुनाव का भी बहिष्कार करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Villagers of Ghaznaha took voting boycott said no road no vote