DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिजली समेत चार मांगो को लेकर आमरण अनशन पर बैठे चार लोग

बिजली समेत  चार मांगो को लेकर आमरण अनशन पर बैठे चार लोग

भयावह गरमी मे सवा लाख लोगों को बिजली खून की आंसू रूला रही है। दिनभर में एकाध घंटा बिजली मिल जाय तो बहुत है। इस कुव्यस्था से क्षुब्ध लोक विस्थापित संघर्ष समिति के बैनर तले टंडवा के चार लोग आमरण अनशन पर बैठकर विद्युत विभाग को विचलित कर दिया है। दुर्गा मंदिर परिसर मे मंगलवार को समिति से जुड़े संतोष नायक, सुधीर सिन्हा, अजीत नायक और कौलेश्वर यादव ने टंडवा के हित मे भूख हडताल पर बैठ गये। इन चारों आंदोलनकारियों को राष्ट्रपति से सम्मानित रिटायर शिक्षक रामविरेंद्र नायक ने माला पहनाकर उत्साह बढ़ाया। कार्यक्रम का संचालन शिक्षक बासुदेव बसंत ने करते हुए कहा कि बरदास्त करने की सीमा खत्म हो गयी । अब हर हाल मे बिजली की सुविधा लेंगे। वहीं झाविमो नेता महेन्द्र सिह भोक्ता ने इनकी मांगो को जायज करार दिया। इसके पूर्व अपने घोषित कार्यक्रम के तहत संघर्ष समिति ने अनशन के माध्यम से टंडवा मे लंबित पावर सबस्टेशन का काम शुरू करने,आम सहमति लिये बराज के निर्माणाधीन काम को रोकने, एनटीपीसी द्वारा घोषित श्मशान घाट व छठ घाठ बनाने तथा केरेडारी सब स्टेशन से ब्रेकर हटा कर डायरेक्ट टंडवा को बिजली देने की मांग की। अनशन पर बैठे संतोष और अजीत नायक ने इसके औचित्य पर प्रकाश डालते हुए बताया कि टंडवा के लोग 30 हजार एकड़ से अधिक जमीन सीसीएल और एनटीपीसी को दे चूके हैं, बावजूद लोग बिजली के लिये तरस रहे हैं। अब हमारी मांगें जबतक पूरी नही होगी तबतक अनशन जारी रहेगा। वहीं विधायक प्रतिनिधि तारकेसर गुप्ता, समाजसेवी जागेश्वर दास, जयनंदन रजक, सरोज गुप्ता, समेत अन्य ने इस आंदोलन को सफल बनाने के लिये हर वर्ग से समर्थन देने की अपील की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:The hunger strike for the four demands including electricity