DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एसपी पहुंचे उग्रवाद प्रभावित क्षेत्र सिकिद, खाट पर बैठ सुने ग्रामीणों की समस्यायें

एसपी पहुंचे उग्रवाद प्रभावित क्षेत्र सिकिद, खाट पर बैठ सुने ग्रामीणों की समस्यायें

एसपी अखिलेश बी वारियर जिले के अति उग्रवाद प्रभावित कान्हाचट्टी प्रखंड के सीकीद और केंदुआ सहोर गांव का बुधवार को दौरा कर ग्रामीणों को यह एहसास दिला दिया कि पुलिस आम लोगों के साथ है। केंदुआ और सहोर गांव जिले के ऐसे गांवों में आते हैं, जहां पुलिस यदाकदा ही जाती है। ये गांव बिहार के बाराचट्टी से सटा होने के कारण इस क्षेत्र में हमेशा माओवादियों की गतिविधियां रहती है। एसपी उक्त गांव में पहुंचकर ग्रामीणों के साथ खाट पर बैठकर उनकी समस्याएं सुनीं और समाधान का आश्वासन दिया। इस दौरान एसपी ने बिहड़ जंगलों की भौगोलिक स्थिति को भी जाना। पुलिस प्रशासन ने उक्त गांवों का दौरा कर नक्सलियों को एक तरह से यह मैसेज दे डाला कि पुलिस प्रशासन की नजर जिले के कोने-कोने पर है। अब पुलिस के आगे उग्रवादियों का नहीं चलेगा। उन्होंने समाज से भटके लोगों से आह्वान किया कि वे जितना जल्दी हो सके आत्मसमर्पण कर सरकार के आत्मसमर्पण नीति का लाभ उठा लें अन्यथा पुलिस की गोली खायें। प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में एक साथ उग्रवादियों के विरूद्ध बड़ा अभियान चलाया जाना है। जिस कारण एसपी श्री बारियर लगातार पुलिस पदाधिकारियों के साथ इसपर मंथन कर रहे हैं। एसपी ने 29 मई को जहां डीएसपी स्तर के पदाधिकारियों के साथ बैठक की थी। वहीं 30 मई को जिले के सभी इंस्पेक्टर स्तर के पदाध्किाारियों के साथ बैठक कर कई दिशा-निर्देश दिये। उन्होने कांडों के निष्पादन पर जोर देते हुए हाईकोर्ट में गवाहों को समय पर एपीयर होने की भी बात कही। साथ ही समय पर डायरी को भेजने का निर्देश दिया ताकि समय पर न्यायालय द्वारा अभियुक्तों को सजा मिल सके।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: SP, sitting on the cot, listen villagers problems in naxal effected village