DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पूर्व कृषि मंत्री को मिली जमानत, कहा भाजपा सरकार के इशारे पर मुझे फंसाया गया

चतरा के मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी दिनेश कुमार की अदालत ने पूर्व कृषि मंत्री योगेंद्र साव को मंगलवार को बेल दे दिया। मंत्री के विरूद्ध टंडवा थना कांड संख्या 97/15 धारा 386, 387, 323 के अंतर्गत आम्रपाली के सुरक्षा निरीक्षक चक्रपाणि घोष के आवेदन पर अंकित किया गया था। चक्रपाणि के द्वारा आरोप लगाया गया है कि 10 जून 2015 को आम्रपाली बंद के दौरान काफी संख्या में लोग आये और महिला पुरूष जबरण खदान में घुस कर तोड़फोड़ करने लगे। मजदूरों को मारपीट कर भगा दिया। वहीं मंत्री ने बताया कि मेरे विरूद्ध फर्जी मामला दर्ज करवाया गया है। गरीबों और रैयतों का आवाज दबाने के लिए भाजपा सरकार ने मुझे फंसाया है। वर्ष 2019 के चुनाव में जनता माफ नहीं करेगी। इन्हें कुर्सी छोड़ कर भागना पड़ेगा। चतरा के सांसद और विधायक अवैद्ध वसूली में व्यस्त है। सीसीएल, एनटीपीसी मुआवजा के नाम पर रैयतों को ठगने का काम कर रही है। लोक सभा में कमरर्शियल रेट, हॉसिंग रेट एग्रीकल्चर रेट और इंडस्ट्रीयल रेट के तहत स्थानीय दर के हिसाब से चौगुना रेट पर मुआवजा के लिये लोक सभा में आवाज बुलंद करने की जरूरत है। यहां की जनता के बारे में कोई भी नेता नहीं सोचता है। सिर्फ वूसली में व्यस्त है। जनता प्रदूषण और हाईवा से मरने के लिए विवश है। अगर जनता मुझे मौका दिया तो उनका आवाज बनकर लोक सभा में हजारीबाग का विकास के बारे में आवाज बुलंद करूंगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Former Agriculture Minister Yogendra Saw got bail