Wednesday, January 19, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ झारखंड चक्रधरपुरभाषा और संस्कृति को जीवित रखने का लिया संकल्प

भाषा और संस्कृति को जीवित रखने का लिया संकल्प

हिन्दुस्तान टीम,चक्रधरपुरNewswrap
Thu, 02 Dec 2021 05:10 PM
भाषा और संस्कृति को जीवित रखने का लिया संकल्प

गोईलकेरा के नक्सल प्रभावित आराहासा स्वास्थ्य उपकेंद्र मैदान में बुधवार को आदिवासी हो समाज युवा महासभा की बैठक ग्रामीण मुण्डा महेन्द्र कोड़ा की अध्यक्षता में हुई। बैठक में हो समाज की मूल संस्कृति, पारंपरिक रीति-रिवाज, जन्म-विवाह-मृत्यु संस्कार एवं विलुप्त हो रहे भाषा-संस्कृति को पुन: जीवित करने की दिशा में चर्चा की गयी। पर्व-त्योहार की विशेषताओं के बारे में स्थानीय बुद्धिजीवियों के साथ जानकारियां आदान-प्रदान किया गया। स्वयंसेवी संगठन एवं आदिवासी हो समाज युवा महासभा की ओर से समाज के लोगों को ग्रामसभा का दायित्व तथा सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं के बारे में जानकारी दी गयी। वहीं समाज में आर्थिक समस्या पर गहरा चिंतन हुआ तथा पारंपरिक व्यवसाय कृषि एवं पशुपालन पर जोर देने के साथ-साथ क्षेत्र के युवाओं को स्वरोजगार की दिशा में बैंक ऑफ इंडिया के तहत चल रहे आरसेटी ट्रेनिंग कार्यक्रम के बारे में भी जानकारी दी गयी। सामाजिक विकास एवं सामाजिक एकता को लेकर युवा महासभा केन्द्रीय अध्यक्ष डॉ बबलु सुंडी एवं केन्द्रीय महासचिव गब्बरसिंह हेम्ब्रम की ओर से आदिवासी हो समाज महासभा की नियमावली व उद्देश्य पर प्रकाश डाला गया । मौके पर रेंगाबेड़ा ग्रामीण मुण्डा मानसिंह अंगरिया, कुरकुटी ग्रामीण मुण्डा डंगुर हेम्ब्रम, मानसिंह कोड़ा, मंगल सिंह पूर्ति, राउतु अंगरिया, ओम प्रकाश कोड़ा, वीरन्द्र अंगरिया, गोविंद कोड़ा, सरकन कोड़ा, आनंद सिंह लागुरी, मंगल सिंह आंगरिया, चित्रसेन हेम्ब्रम, बुधराम कोड़ा, रामराई हेम्ब्रम, कुजरी पूर्ति, अर्जुन अंगरिया, रामधन कोड़ा, डूबराज कोड़ा, देवेन्द्र कोड़ा समेत ग्रामीण उपस्थित थे।

epaper
सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें