ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंड चक्रधरपुररेल अस्पताल में तीन महीने से लैब बंद, जांच के लिए निजी केंद्रों पर निर्भर रेलकर्मी

रेल अस्पताल में तीन महीने से लैब बंद, जांच के लिए निजी केंद्रों पर निर्भर रेलकर्मी

बंडामुंडा स्थित रेलवे अस्पताल में पिछले तीन महीने से लैब बंद रहने के कारण मरीजों की जांच नहीं हो पा रही है। इससे हजारों रेलकर्मी व उनके परिवार के...

रेल अस्पताल में तीन महीने से लैब बंद, जांच के लिए निजी केंद्रों पर निर्भर रेलकर्मी
default image
हिन्दुस्तान टीम,चक्रधरपुरMon, 12 Jun 2023 01:41 AM
ऐप पर पढ़ें

बंडामुंडा स्थित रेलवे अस्पताल में पिछले तीन महीने से लैब बंद रहने के कारण मरीजों की जांच नहीं हो पा रही है। इससे हजारों रेलकर्मी व उनके परिवार के लोग परेशान हैं। आलम यह है कि पिछले दो महीने से रेलकर्मी निजी लैब के सहारे हैं।

अस्पताल आने वाले मरीज निजी लैब में जांच करवाने को मजबूर हैं। जानकारी के अनुसार, तीन महीने पहले पुरानी कंपनी के साथ करार खत्म हो चुका है। इसके बाद से अस्पताल का लैब बंद पड़ा हुआ है। ज्ञात हो कि बंडामुंडा रेलवे अस्पताल पर राउरकेला, बंडामुंडा, बरसुआ, बिसरा, जराईकेला, भालूलता, नुआगांव समेत आसपास के क्षेत्र के करीब आठ हजार रेलकर्मी स्वास्थ सेवा के लिए निर्भर हैं। अस्पताल में स्वास्थ सुविधा पूरी तरह से चरमरा गई है। यहां एंबुलेंस की सेवा तक नहीं है। अब लैब बंद होने के कारण रेलकर्मी और उनके परिवार के लोग आए दिन परेशान होते हैं।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।