DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

देखरेख के अभाव में खंडहर बना हुड़ांगदा पंचायत भवन

देखरेख के अभाव में खंडहर बना हुड़ांगदा पंचायत भवन

पश्चिमी सिंहभूम जिले के बंदगांव प्रखंड के हुड़ांगदा पंचायत भवन देखरेख के अभाव में खंडहर बनता जा रहा है। पंचायत प्रतिनिधि और अधिकारियों का ध्यान भवन की तरफ नहीं है। मुख्य सड़क के किनारे भवन होने के बावजूद यहां न बिजली है और न ही पेयजल की सुविधा। पंचायत भवन में मुखिया और अधिकारी नहीं के बराबर आते हैं। कंप्यूटर सहित कई जरूरी सरकारी सामान मुखिया अपने घर ले गए हैं। पंचायत भवन की अव्यवस्था को लेकर पंचायत के ग्रामीण खासे नाराज है। ग्रामीणों का कहना है कि जिस उद्देश्य से भवन का निर्माण कराया गया है उसका लाभ उन्हें नहीं मिल रहा है। अव्यवस्था का आलम यह है कि पंचायत चुनाव संपन्न हुई चार साल होने जा रहे है, लेकिन भवन के मुख्य द्वार के बाहर आज भी पूर्व मुखिया, पंचायत सेवक और अन्य अधिकारियों का नाम अंकित है। यहीं नहीं गांवों में शौचालय का निर्माण कार्य कर रहे मजदूरों का पंचायत भवन के सभागार में कब्जा है। इसे लेकर शनिवार को वार्ड सदस्य दुखन सरदार की अध्यक्षता में ग्रामीणों की बैठक हुई। बैठक में पंचायत सेवक जीवन सिंह कुंटिया व पूर्व जिला परिषद सदस्य जोगेन गागराई भी शामिल हुए। बैठक में पंचायत भवन की स्थिति पर चिंता जाहिर करते हुए स्वतंत्रता दिवस के पूर्व भवन का रंग रोगन कराने, पेयजल समस्या को दूर करने के लिए बोरिंग कराने और सभागार में अवैध कब्जा जमाए मजदूरों को हटाने का निर्णय लिया गया। साथ ही पूरे मामले की जानकारी वरीय अधिकारियों को देने का निर्णय लिया गया। बैठक में सिदियू गागराई, बागुन गागराई, गोमा गागराई, श्रीराम गागराई, सकारी गागराई, रांदो गागराई, गोवास मुंडू, राजाराम हेम्ब्रम, निरंजन नायक, लांडू हेम्ब्रम, मंगल हेम्ब्रम आदि उपस्थित रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Hudangada Panchayat Bhawan