DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   झारखंड  ›  चक्रधरपुर  ›  बसों का संचालन हुआ शुरू, पर यात्रियों में नहीं दिखी दिलचस्पी, खाली रही सीटें
चक्रधरपुर

बसों का संचालन हुआ शुरू, पर यात्रियों में नहीं दिखी दिलचस्पी, खाली रही सीटें

हिन्दुस्तान टीम,चक्रधरपुरPublished By: Newswrap
Wed, 02 Sep 2020 03:42 AM
बसों का संचालन हुआ शुरू, पर यात्रियों में नहीं दिखी दिलचस्पी, खाली रही सीटें

कोरोना वैश्विक महामारी के बाद बने लॉकडाउन के हालात के बाद शासन के दिए गए दिशा निर्देश तथा यात्री बस संचालकों की सहमति के बाद आज सड़कों पर कुछ यात्री बसों का संचालन तो शुरू हुआ, किंतु बसों में न तो सवारी ही मिले और ना ही पर्याप्त बसें सड़कों पर देखने को मिली।बसों का परिचालन छह महीने बाद मंगलवार से प्रारंभ हुआ। पहले दिन रांची के लिए चाईबासा-रांची तक चलने वाली चार बसें ही रांची गई। जबकि रांची से तीन बसें आयीं। लेकिन बसों में कम यात्री नजर आये। रांची जाने वाली बसों में छह-सात यात्री ही बैठे। चक्रधरपुर से खुलकर लंबी दूरी के लिए चलने वाली बसें मंगलवार को नहीं गई। इधर इसी तरह चक्रधरपुर से चाईबासा, सोनुवा इत्यादि कम दूरी तक की बसें भी चलीं, लेकिन इन बसों में यात्री बहुत कम थे। रांची के लिए पहली बस सुबह सात बजे गई। जबकि अंतिम बस दोपहर लगभग डेढ़ बजे रांची गई। रांची-चाईबासा-चक्रधरपुर के बीच लगभग 25 से अधिक बसों का परिचालन होता है। मंगलवार को मनोहरपुर एवं किरीबुरू से रांची तक चलने वाली कृष्णा रोडवेज,अंजनी नामक बस खुली। इस दौरान बस के ड्राईवर, कंडक्टर और यात्री मास्क पहनकर नियमों का पालन करते नजर आये। काफी दिनों के बाद यात्री बस खुलने के कारण अधिकांश सीटें खाली नजर आयी। डबल किराया देकर यात्रियों ने किया सफरबस ऑनर एसोसिएशन के आह्वान पर कोरोना महामारी में बसों का भी किराया दोगुना हो गया है। मंगलवार को जिन यात्रियों ने भी बसों में यात्रा की उन्हें दोगुना किराया देना पड़ा। चक्रधरपुर से रांची के लिए 280 रुपये, चाईबासा के लिए 60 रुपये व जमशेदपुर के लिए 210 रुपये के अलावे अन्य स्थानों के लिए भी दोगुना किराया तय किया गया है। बसों के परिचालन शुरू होने से ड्राईवर, कंडक्टर के अलावा यात्रियों के चेहरे पर भी खुशी देखी गई। बसों में किया गया नियम का पालन:कोरोना महामारी के कारण सरकार द्वारा जारी की गई गाइडलाइन का पालन बसों में किया गया था। बसों में सेनिटाइजर की भी व्यवस्था की गई थी। इसके साथ ही यात्रियों को बगैर मास्क के प्रवेश नहीं करने दिया जा रहा था।

संबंधित खबरें