DA Image
हिंदी न्यूज़ › झारखंड › चाईबासा › शहीद पोटो सरदार के गांव राजाबासा में 9 अगस्त को मनेगा विश्व आदिवासी दिवस
चाईबासा

शहीद पोटो सरदार के गांव राजाबासा में 9 अगस्त को मनेगा विश्व आदिवासी दिवस

हिन्दुस्तान टीम,चाईबासाPublished By: Newswrap
Thu, 29 Jul 2021 05:10 PM
शहीद पोटो सरदार के गांव राजाबासा में 9 अगस्त को मनेगा विश्व आदिवासी दिवस

जगन्नाथपुर, संवाददाता

अंग्रेजी सेना के दांत खट्टे कर देने वाले सिरिंगसिया घाटी की लड़ाई के नायक वीर शहीद पोटो हो की जन्मभूमि राजाबासा गांव में बुधवार को बैठक हुई। इसमें 9 अगस्त को विश्व आदिवासी दिवस पर कार्यक्रम के आयोजन को लेकर चर्चा की गई। इस दौरान तैयारी को लेकर विचार-विमर्श किया गया। बैठक की अध्यक्षता आदिवासी हो समाज युवा महासभा के केंद्रीय महासचिव सोमा कोड़ा ने की। मौक पर कोड़ा ने कहा कि आगामी 9 अगस्त को विश्व आदिवासी दिवस सामुहिक रुप से शहीद पोटो हो स्मृति समिति के बैनर तले धूमधाम से मनाया जाएगा। पोटो हो जैसे वीर पुरुष का हमारे हो समाज में जन्म लेना गौरव की बात है। आज वीर शहीद पोटो की जैसे महापुरुषों की देन है कि कोल्हान में मुंडा-मानकी शासन व्यवस्था संचालित है, विल्किंसन्स रूल्स लागू हुआ। आदिवासी हो समाज युवा महासभा पूर्व अनुमंडल अध्यक्ष मंजीत कोड़ा ने कहा कि विश्व के मान चित्र में पोटो सरदार को पहचान दिलाने के लिए सामाजिक स्तर पर संघर्ष करने की आवश्यकता है। पोटो के नाम से झारखंड सरकार कई महत्वकांक्षी योजनाएं चला रही है। इसके वावजूद विकास के मामले में शहीद ग्राम राजाबासा सरकारी मूलभूत सुविधा से पूरी तरह से वंचित है। उन्होंने कहा कि जगन्नाथपुर डाक बंगला परिसर स्थित जिस बरगद के पेड़ में पोटो हो सरदार के साथ नारा हो, बड़ाय हो को फांसी दी गई है। आज उस शहीद स्थल का अस्तित्व खतरे में है। सरकार और प्रशासन का भी इस ओर ध्यान नहीं देना शहीदों का अपमान है। उन्होंने कहा कि अन्य शहीदों के गांव में जिस प्रकार से विकास हुआ है, उसी प्रकार जैंतगढ़ पंचायत के राजाबासा में विकास से ही पोटो की सच्ची श्रद्धांजलि होगी। बैठक में पुत्कर लागुरी, मुन्ना लागुरी, धीरज गागराई, सुखमति पुरती, जापान पुरती, गुरुचरण सोय, सुशील बालमुचू, मंजीत कोड़ा, मुखिया खुशबु हेंब्रम, राई भूमिज आदि उपस्थित थीं।

संबंधित खबरें