ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंड चाईबासा बड़ाजामदा के 36 रेलवे क्वार्टरों में सात दिनों से जलापूर्ति ठप

बड़ाजामदा के 36 रेलवे क्वार्टरों में सात दिनों से जलापूर्ति ठप

बड़ाजामदा रेल क्वार्टर में रहने वाले लोग भीषण गर्मी में पीने के पानी के लिए तरस रहे हैं। बड़ाजामदा के 36 रेलवे क्वार्टरों में पिछले 10 जून से...

बड़ाजामदा के 36 रेलवे क्वार्टरों में सात दिनों से जलापूर्ति ठप
default image
हिन्दुस्तान टीम,चाईबासाSun, 16 Jun 2024 11:15 PM
ऐप पर पढ़ें

गुवा, संवाददाता। बड़ाजामदा रेल क्वार्टर में रहने वाले लोग भीषण गर्मी में पीने के पानी के लिए तरस रहे हैं। बड़ाजामदा के 36 रेलवे क्वार्टरों में पिछले 10 जून से जलापूर्ति ठप है। ऐसा बोरिंग के समरसेबल पंप के खराब रहने के कारण हो रहा है।  इसके बावजूद रेलवे के अधिकारी इस ओर ध्यान नहीं दे रहे हैं। बड़ाजामदा क्षेत्र से रिकार्ड तोड़ लौह अयस्क की ढुलाई कर रेलवे अरबों रुपये कमाती है लेकिन रेलवे द्वारा इस समस्या को नजर अंदाज किए जाने से रेलकर्मी व उनके परिजन परेशान हैं। 
रेलकर्मियों ने बताया कि रेलवे के अधिकारी ब्रांच लाइन में काम करने वालों की परेशानी को दूर करने में कोई खास रूचि नहीं दिखाते हैं। यही वजह है कि भीषण गर्मी में रेलवे ने अपने कर्मियों और उनके परिजनों को बिना पानी के जीने को मजबूर कर दिया है।  पानी सप्लाई के नाम पर बस खानापूर्ति की जा रही है। टैंकर से घरवालों को मात्र एक से दो बाल्टी पानी ही दिनभर के लिए उपलब्ध कराया जा रहा है, जिससे जरूरत पूरी नहीं हो पाती। इसके कारण रेलकर्मियों के घरेलू कामकाज प्रभावित हो रहे हैं। परिजनों का कहना है कि डांगवापोसी एडीईएन हरिराम त्रिपाठी इस मामले को लेकर केवल रेल कर्मियों को आश्वासन दे रहे हैं। जलापूर्ति समस्या का समाधान करने में वे नाकाम साबित हो रहे हैं। भीषण गर्मी में बूंद-बूंद पानी के लिए तरस रहे रेलकर्मियों और उनके परिजनों ने रेलवे के वरीय पदाधिकारियों से जल समस्या को जल्द दूर करने की मांग की है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।