DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

थाना भवन घोटाले की जांच के लिए पहुंची टीम

पुराने थाने के भवन की जांच के लिए झारखण्ड सरकार द्वारा हाउसिंग कॉरपोरेशन नियुक्त एक टीम मंगलवार को गुवा पहुंची। गुवा पहुंचकर टीम ने पुराने थाने के भवन की जांच की और जानकारी जुटाई। टीम का नेतृत्व करने वाले अभियंता सुरेश ठाकुर, लोकमान्य अंसारी एवं प्रभाष चंद्र ठाकुर ने बताया कि जिस समय इस थाने का निर्माण चल रहा था उसके बाद लगभग 70 फीसदी काम पूरा होने के बाद ठेकेदार को उसके किए गए काम के एवज में भुगतान कर दिया गया। इसी बीच 2011 से शिकायत मिलने के बाद काम बंद पड़ा है। वर्ष 2011 से अबतक 8 वर्ष बीत चुके हैं। इसी बीच लोगों ने बिल्डिंग में लगे ईंटों तक को उखाड़ कर ले गए और अब 70 फीसदी की जगह मात्र ढांचा खड़ा है। गौरतलब है कि वर्ष 2008 में गुवा के योगनगर में सरकार द्वारा नए थाना भवन को बनाने को मंजूरी दी गयी। इसके बाद ठेकेदार ने अत्यंत ही धीमी गति से काम शुरू किया। इसके बाद शिकायत मिलने के बाद वर्ष 2011 में काम रूक गया और अब यह एक खंडहर में तब्दील हो गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Team reached for investigation of Thana Bhavan scam