DA Image
हिंदी न्यूज़ › झारखंड › चाईबासा › बीआरएलएफ के सहयोग से विद्यार्थियों को एमबीए करा रही हो समाज महासभा
चाईबासा

बीआरएलएफ के सहयोग से विद्यार्थियों को एमबीए करा रही हो समाज महासभा

हिन्दुस्तान टीम,चाईबासाPublished By: Newswrap
Mon, 27 Sep 2021 05:01 PM
बीआरएलएफ के सहयोग से विद्यार्थियों को एमबीए करा रही हो समाज महासभा

चाईबासा, संवाददाता

विद्यार्थियों को अच्छी शिक्षा दिलाने के लिए आदिवासी हो समाज महासभा विभिन्न संस्थाओं के माध्यम से प्रयास में लगातार जुटी हुई है। इसी क्रम में एक कदम बढ़ाते हुए आदिवासी हो समाज महासभा के माध्यम से भारत सरकार की संस्था भारत रूरल लाईवलीहुड फाउन्डेशन (बीआरएलएफ) के सहयोग से चार ग्रामीण विद्यार्थियों को इंडियन इंस्टीच्यूट ऑफ हेल्थ मैनेजमेंट एण्ड रिसर्च युनिर्वसीटी (आईआईएचएमआर) जयपुर भेजा गया है। इन्हें सत्र 2021-23 में रूरल डेवलपमेंट में मैनेजमेंट कोर्स के लिए भेजा गया है। इन विद्यार्थियों में धर्मेन्द्र लागुरी (गुमरिया ), गितिल तिरिया (मैरमसाइ), पूजा सुण्डी (नरसंडा) और सीमा खलको (इचापुर) शामिल है।

बीआरएलएफ के द्वारा विद्यार्थियों को बेहतर पढ़ाई के लिये आदिवासी हो समाज महासभा के माध्यम से रविवार को लैपटाप दिया गया। इस अवसर पर विद्यार्थियों को सम्बोधित करते हुए केन्द्रीय अध्यक्ष कृष्ण चन्द्र बोदरा ने कहा कि बीआरएलएफ के माध्यम से 100 ग्रामीण विद्यार्थियों को ग्रामीण विकास में एमबीए कराने का लक्ष्य है। केन्द्रीय हो महासभा इसके पहले सत्र 2018-20, सत्र 2019-21 और सत्र-2020-22 में दो-दो विद्यार्थियों को भेज चुकी है। सत्र- 2021-23 मे चार विद्यार्थियों को भेजा जा रहा है। प्रथम और द्वितीय बैच के चार विद्यार्थी मल्टीनेशनल कंपनी में जुड़कर काम रहे हैं। इस अवसर पर केन्द्रीय उपाध्यक्ष नरेश देवगम, महासचिव तिरिल तिरिया, केन्द्रीय सदस्य पोरेश पाड़ेया, सुजीत कालुंडिया, जिलाध्यक्ष नारायण देवगम, सचिव मनिष आल्डा, अनुमंडल अध्यक्ष जगन्नाथपुर समियल लागुरी, सुरज सोय, भानुप्रिय नायक आदि उपस्थित थे। धन्यवाद ज्ञापन मनीष आल्डा ने दिया।

संबंधित खबरें