National Human Rights Commission reviewed with displaced persons - राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग ने विस्थापितों के साथ की समीक्षा DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग ने विस्थापितों के साथ की समीक्षा

राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग ने विस्थापितों के साथ की समीक्षा

केंदुझर जिला के जोड़ा प्रखंड के बासुदेवपुर में निर्माणाधीन ओडिशा के दूसरे वृहत नदी बांध योजना में विस्थापित ग्रामीणों के मानव अधिकार का उल्लघंन की समीक्षा हुई। राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग द्वारा नियुक्त समीक्षक विभूतिभूषण मिश्र ने मंगलवार को अपने दौरे के दूसरे दिन विस्थापित ग्राम रेभैंसापुर, गोबिंदपुर और दोदुआ गांव जाकर ग्रामीणों की स्थिति जानी। ग्रामवासी आलेख कुमार बारीक, उदयनाथ बारीक, माधव चंद्र पोलई ,बिपिन बारीक, रीना बारीक आदि प्रमुख लोगो ने शिकायत कर कहा कि विस्थापितों को स्थापित नहीं करने तक ग्राम में कट अप डेट लागू न हो, खेती की जमीन या जमीन का चार गुणा मूल्य दिया जाए, स्थापित न होने तक मौलिक सुविधा मुहैया कराया जाए, विस्थापित ग्राम में हाथियों के द्वारा नुकसान की भरपाई करने, क्षतिग्रस्त विस्थापितों एवं भूमिहीन लोगों को घर के लिए राशि प्रदान करने की मांग की गई। इस दौरे में मिश्र के अलावा प्रकल्प निदेशक अशोक कुमार पांडा, मनोज पात्रा आदि मौजूद थे। विस्थापित कोर कमेटी की ओर से नरेश सितारी, आलेख बारीक,बबलू दास, फॉरेन सामड प्रमुख समीक्षक मिश्रा के साथ विभिन्न समस्या पर विमर्श किया। इसके बाद समीक्षक मिश्र बड़बिल एवं जोड़ा प्रखंड कार्यालय जाकर ग्राम की फ़ाइल ओर विकास कार्य की जांच की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:National Human Rights Commission reviewed with displaced persons